All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

Antarvasna Hindi Sex Stories जंगल लव 2


मेरे पास अब कोइ चारा नहीं था. मैं सामने पड़े बड़े से पत्थर पर अपने पंजे टिका कर झुक गया. Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai

Antarvasna प्रणय मेरे पीछे आ गया. उसने अपनी हथेली पर थूका और उसे अपने लंड पर मल दिया. फिर दोबारा थूक कर उसने उसे मेरी गांड में मल दिया. उसने अपने लंड का सुपाडा मेरे छेड़ पर टिकाया, मेरी कमर को कस कर पकड़ा और जोर का धक्का मारा…..


मुझे वो पल याद आ गया जब मैं पहली बार चुदा था… मेरे एक कॉलेज के दोस्त ने ब्लू फिल्म देखने के बाद मेरा काम लगा दिया था. दर्द के मारे तब मुझसे चला भी नहीं जा रहा था. ठीक वैसा ही दर्द, या फिर कहूँ की उससे ज्यादा दर्द अब मुझे हो रहा था. मेरी सिसकारी निकल गयी….


“आह्ह्ह… प्रणय… its hurting me… i cant do it…!!” मैंने प्रणय से निकलने को कहा.

लेकिन वो कहाँ सुनने वाला था. “hold it dude… just a few minutes… बाद में दर्द नहीं होगा.. just hold on…”

अब उसने अपना सुपाडा धीरे धीरे हिलाना शुरू किया और मेरी गांड फटने लगी.

मैं चिल्ला भी नहीं सकता था… कोइ आ न जाया और हमें रंगे हाथों पकड़ न ले.

“प्रणय… बस करो… stop it now” मैंने उसे रोकने की कोशिश करी, लेकिन वो तो बहरा हो चुका था- सुन ही नहीं रहा था. अब तक सिर्फ उसने अपना सुपाडा डाला था, अब उसने अपना लंड और अन्दर तक डाल दिया और हिलाने लगा.

अब मुझसे रहा नहीं गया और हलके हलके सिस्कारियां लेने लगा


“आह्ह्ह्ह… !!!”

“उह्ह्ह… प्रणय बस करो, प्लीज़….!” लेकिन प्रणय जी कहाँ सुनने वाले थे..वो तो चुदाई करने में मस्त थे. वैसे भी tops के सामने रो-गाओ तो उन्हें और मज़ा आता है. इस पर उसने अपनी स्पीड और तेज़ कर दी.. अब वो मुझे जल्दी जल्दी चोद रहा था. उसका पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में दौड़ लगा रहा था.

मैंने अब अपने आप को छुड़ाने की कोशिश करी. उसके हाथ अपनी कमर से हटाकर सीधा खड़ा हो गया और अपनी गांड हटाने लगा. लेकिन उसने लपक कर मुझे कंधे से दबोच लिया और झुका दिया. मैं अब कुछ नहीं कर सकता था- उसके muscles की ताकत के आगे मैं हार गया, अब मेरे पास हाथ पांव जोड़ने के अलावा और कोइ दूसरा चारा नहीं था.


“प्रणय… प्रणय… बस करो… मुझे दर्द हो रहा है… उफ्फ्फ…”

“wait, baby wait… i wont take long” वो अपनी कमर हिला हिला कर अपने भूखे लंड को मेरी गांड की सैर करा रहा था.

” you know this is rape…” मैं बोला

“I dont care… क्या कर लोगे तुम?” उसके जवाब से मैं चुप हो गया- मैं वाकई में कुछ नहीं कर सकता था. मैंने खुद उसे अपने साथ ये सब करने दिया था.

अगले दस मिनट तक मैं ऐसे ही दर्द में कराहता रहा. फिर शायद उसे खुद मेरे ऊपर तरस आ गया. उसने अपना अत्याचारी लंड बहार निकला.

मैंने चैन की सांस ली, सीधा खड़ा होकर ठंडी आह भरी . मैं 20 मिनट से उसी अवस्था में झुका झुका चुद रहा था. मेरी गांड और कमर दोनों दुःख रहे थे. मुझे लगा की प्रणय झड़ गया. पलट कर देखा तो माजरा कुछ और ही था. वो सटका मार रहा था, अभी झडा नहीं था. मेरे मुड़ते ही उसने मुझे नीचे बैठने को कहा. मेरा मन अब वहां से भागने का था- मैंने मन कर दिया और जाने लगा.


“यार, अब मैं जा रहा हूँ… अब मैं और कुछ नहीं कर सकता”

“Wait… Im not done yet” इतना कह कर उसने मुझे कन्धों से दबोच कर नीचे बैठा था और अपना लंड मेरे मुंह में ठूंस दिया.

“C’mon.. suck it… चूसो न…” उसने अपने दोनों हाथों से मेरे सर ज़बरदस्ती पकड़ रखा था और अपना लंड जोर जोर से हिला रहा था.

मेरा गला चोक हो रहा था, आँखों से आंसू आ रहे थे मुझसे चूसा ही नहीं जा रहा था. लेकिन सिर्फ मुंह से आवाज़ निकल पा रहा था

“म्मम्म…. म्मम्म….!!”


तभी उसने अपना लंड बहार निकला और मेरे बालों को एक हाथ से जोर से दबोच कर दुसरे हाथ से सटका मारने लगा. अब वो चरम सीमा पर पहुँच चूका था. उसने एक हलकी सी आह भरी:


“उह्ह…!!!” और मेरे चेहरे पर अपना ढेर सारा वीर्य छिड़क दिया.


The End


The post Antarvasna Hindi Sex Stories जंगल लव 2 appeared first on Hindi Sex.




Antarvasna Hindi Sex Stories जंगल लव 2

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks