All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

मेरी चुदक्कड बहने-5


प्रेषक : राज


आप लोगो ने मेरी चुदक्कड बहने पार्ट 4 में अभी तक पढ़ा …. उसके आगे .. मैं:- हां मोम याद है, तभी पायल ने डिसाइड किया है, आप के वापस आने तक वो मेरे साथ रहेगी, ताकि अकेला बोर ना हूँ मैं मोम:- अरे बेटे अकेले कहाँ, डॉली नही चल रही वो भी घर पे ही रहेगी तुम लोगों के साथ  मैं कुछ कहता उससे पहले पायल ने मेरे कान में शॉकिंग्ली कहा भाई वो यहाँ रही तो मैं नही रहूंगी  शट अप पायल कुछ नही करोगी, यू विल स्टे हियर ओके  उठ के हम नहा लिए फ्रेश होके नीचे गये नाश्ता ख़ाके सब लोग निकल गये फिर पायल ने कहा, भाई, आइ अम ऑल्सो लीविंग  डॉली के सामने सीन नही क्रियेट करना चाहता था मैं, सो आइ जस्ट साइड ओके  पायल जाने लगी और मैं उसे बाहर तक छोड़ने गया पायल:- भाई दिल के साथ दिमाग़ भी चलाना ओके  ओके स्वीट्स मैने स्माइल देके कहा  गुड बाइ किस करके पायल चली गयी और मैं वापस घर के अंदर आया जैसे ही मैं अंदर आया डॉली मैं हॉल में टीवी देख रही थी कुछ बोले बिना मैं सीधे अपने रूम में गया  पिछले 24 घंटे में जो हुआ मैं उसके बारे में सोचने लगा सिर्फ़ एक ही बात मुझे खाए जा रही थी  मैं क्यूँ डॉली के साथ ऐसा बिहेव कर रहा हूँ उसने पर्सनली तो मुझे कुछ नही किया फिर मैने क्यूँ उसके साथ ऐसा किया  1 घंटा मैं खुद से लड़ता रहा और ये फ़ैसला किया मुझे डॉली से माफी माँगनी चाहिए इतना गंदा बिहेवियर वो डिज़र्व नही करती  बट मैं जानता था कि उससे माफी माँगने जाउन्गा तो नही मानेगी फिर मुझे एक मस्त आइडिया आया  30 मिनट बाद डोरबेल बजी मैं उपर ही था और डॉली ने दरवाज़ा ओपन किया जैसे ही उसने डोर ओपन किया, सामने उसके एक सुंदर बूकेट था रेड फ्लवर्स का  डेलिवरी बॉय:- मॅम, दीज़ आर फ्लवर्स फॉर मिस डॉली आप उन्हे बुला देंगे प्लीज़  मैं ही डॉली हूँ  डेलिवरी बॉय:- मॅम दिस ईज़ फॉर यू प्लीज़ साइन हियर डॉली:- बट किसने भेजा है  डेलिवरी बॉय:- मॅम वी डोंट नो दट हमारे पास कई ऑर्डर्स आते हैं, प्लीज़ आप साइन करें, मुझे कई जगह जाना है  डॉली:- बट ओके लाओ  साइन करवा के डॉली अंदर आई और फ्लवर्स देखने लगी बुके में रखे कार्ड पे उसकी नज़र गयी और उसने तुरंत वो कार्ड ओपन किया पढ़ने क लिए  कार्ड के अंदर का कॉंटेंट:- डियर सिस, सिन्स लास्ट 24 अवर्स आइ हॅव नोट ओन्ली बिन रूड टू यू, बट टू माइसेल्फ ऐज वेल बिकॉज़ इट ईज़ नाउ आइ हॅव रीयलाइज़्ड दट हरटिंग यू गेव मी मोर पेन मेकिंग यू क्राइ ब्रॉट टीआर्स इन माइ आइज़  नाउ ओन्ली युवर स्माइल कॅन ब्रिंग आ स्माइल ऑन माइ फेस  “आइ आम सॉरी माइ डियरेस्ट सिस” ये पढ़ के डॉली ने तुरंत मुझे बुलाया नीचे डॉली:- राज, अगर ये कोई नया तरीका है मेरी बेइज़्ज़ती करने का, तो आइ आम नोट इन जाके बोल दो अपनी पायल को  मैं:- डॉली, ये माफी के अलावा और कुछ नही है जेन्यूवन  डॉली:- राज, प्लीज़ लीव मी अलोन मैं वहाँ से चुपचाप निकल गया अपने रूम में जाके पायल को कॉल किया मैं:- हाई लव, व्हाट डूयिंग  पायल:- नुफ्फ़िं भाई जस्ट केम टू माइ रूम वेरी अपसेट मुश्किल से इतने दिन बाद बियर का प्रोग्राम बना था कुतिया ने सब बिगाड़ दिया  मैने सोचा उसे कहूँ ये ना बोले डॉली को बट दिमाग़ लगाया और चुपचाप सुनने लगा  एनीवेस भाई आप रेस्ट करो आइ गतग आउट, सी या लेटर ओकीज़ स्वीटी? ओके स्वीट्स टेक केअर कॉल कट करके मैं टीवी देखने लगा और टाइम देखा तो 2 बज रहे थे  मैं नीचे गया तो डॉली अभी भी टीवी देख रही थी  मैं:- डॉली, लंच के लिए बारब्क नेशन चलें ? डॉली:- प्लीज़ डोंट टॉक टू मी राज आइ अम नोट हंग्री  जवाब दिए बिना भी मैने फोन उठाया और पिज़्ज़ा ऑर्डर किया मुझे डॉली का फेव टॉपिंग पता था,वोई मँगवाया डॉली:- राज, यू डू व्हाटेवेर यू वान्ट टू मी नोट गॉना फर्गिव यू  मैं:- माफी नहीं, दूसरा मौका माँग रहा हूँ आंड ट्रस्ट मी, मैने वो क्लिप्स भी डेलीट कर दिए हैं  शायद ये सुनके डॉली को कुछ बात हजम हुई  डॉली:- सच्ची? मैं:- पक्का डियर तू मोबाइल चेक कर ले मेरा चाहे तो  फिर वो मोबाइल चेक करने लगी और उसे कुछ नही मिला तो मोबाइल वापस मेरे हाथ में पकड़ा दिया डॉली:- थॅंक यू राज आंड सॉरी, मैं उस वक़्त बहेक गयी थी आंड वो सब एक्सट्रीम्ली सॉरी  मैने मन में सोचा थॅंक गॉड डेलीट मारने से पहले मैने पायल को वो क्लिप्स सेंड कर दिए थे  मैं:- तो, मुझे माफ़ किया? डॉली:- अब ओके ना बार बार माफी मत बोलो  मैं जाके उसको हग करने लगा उसने भी मुझे अच्छा रेस्पॉन्स दिया उस वक़्त मैने ज़्यादा कुछ नही किया क्यूँ कि वक़्त सही नहीं था  डॉली:- अब छोड़ो भी, पिज़्ज़ा क्या ऐसे ही खाओगे मुझसे चिपक के  मैं:- ना, इस मोमेंट के लिए बहुत वेट किया है मैने प्लीज़ सम मोर टाइम सिस  डॉली कुछ नही बोली और लिपटी रही मुझसे धीरे धीरे मेरे बालों में हाथ फिराने लगी  मैं उससे अलग हो गया और कहा , नाइस पर्फ्यूम ब्लू लेडी  डॉली:- आम इंप्रेस्ड तुम्हे कैसे पता चला पर्फ्यूम का नेम मैं:- प्रॅक्टीस प्रॅक्टीस & मोर प्रॅक्टीस डॉली:- ओह तो कितनी लड़कियों को स्मेल किया है मुझ से पहले  मैं:- ज़्यादा नहीं बट जितनी भी थी, तुझसे ज़्यादा अच्छा स्मेल नहीं करती थी डॉली:- ओह आज इतना प्यार कर रहा है और कल फिर  राज:- अब भूल जा ना डियर  मैं एक बात कहूँ, तू मानेगी ? डॉली:- बोल राज:- मैने जो भी किया वो सब में तेरा कोई पर्सनल दुश्मनी नहीं थी मेरे साथ बट तेरे ओर पायल के बीच का झगड़ा क्या है डॉली:- हमारे बीच में कोई झगड़ा नहीं है, बट लड़कियाँ ऐसी ही होती हैं, ईगो प्राब्लम है, सो हम दोनो में से किसी का दोष नहीं है छोटी छोटी बातें ही होती हैं | दोस्तों आप यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है  सो यू रिलॅक्स  तूने पायल की वजह से ऐसा किया मेरे साथ ? राज:- डॉली, झूठ नहीं बोलूँगा, बट सच नहीं बोलना चाहता, सो प्लीज़ फर्गिव मी आंड लेट्स मूव ऑन ये सुनके डॉली की आँख में आँसू आ गये और मैने उसे गले लगा लिया डॉली बहुत ज़्यादा रोने लगी मैने उसे कस्के गले लगा लिया मैं:- सॉरी स्वीट हार्ट  प्लीज़ माफ़ कर दे ना डियर थोड़ा संभाल के मैं उसे अपने पास लाया और अपने होंठ उसके पास लाया  हम दोनो बहुत करीब थे उसके रेड लिप्स मुझे पागल कर रहे थे उसका दिल बहुत ज़ोर से धड़क रहा था मैने अपना एक हाथ उसकी कमर में डाल के अपनी ओर खींचा  जैसे ही हमारे होंठ मिलने वाले थे डोर बेल बजी  डॉली मुझसे अलग होके वॉशरूम चली गयी मूह धोने  मैने डोर ओपन किया तो पिज़्ज़ा डेलिवरी बॉय खड़ा था मैं:- ये क्या टाइम है यार आपके आने का अगर 5 मिनट बाद आते तो  डेलिवरी बॉय:- सर, फिर पिज़्ज़ा फ्री मिलता आपको और मेरा नुकसान होता  मैने कहा ओके चलो  ये लो आपका पेमेंट थॅंक यू  मैने डॉली को चिल्लाया पिज़्ज़ा आ गया है, आजा खाने दो मिनट बाद डॉली आई हम दोनो पिज़्ज़ा खाने लगे 10 मिनट तक कोई कुछ नहीं बोला  ऐसा लग रहा था मानो कब्रिस्तान में बैठे हैं  मैने चुप्पी को तोड़ते हुए कहा मैं:- हाउ ईज़ दा पिज़्ज़ा? डॉली:- अच्छा है, यू नो ना आइ लाइक दिस, तभी तो मँगवाया बट ये स्पाइसी नहीं है इतना मैं:- तू तो मीठी छुरी है स्पाइसी नहीं खा पाएगी हंसते हुए मैने कहा डॉली:- अच्छा बच्चू देखते हैं  फिर थोड़ी देर बाद मैने कहा चल गेम खेलते हैं  डॉली:- तू चल मैं आती हूँ, किचन मैं प्लेट्स रख के मैं चला गया और गेम सेट करने लगा प्स3 मेरा फेव टाइम पास है  15 मिनट हो गये डॉली व्हेअर आर उउउउउउउउउउउउउउउउ मैं चिल्लाया 5 मिनट बाद डॉली आई  और मैं उसे देखता रह गया  इतनी हॉट लग रही थी उसकी टाँगें उसके बूब्स बाल एक दम पीछे बँधे हुए  उसका सेक्सी फेस  मेरे लंड में तो जान आने लगी  डॉली:- ऊह हुह  क्या देख रहा है मैं:- तुझे अचानक क्या हुआ, कहीं जा रही है जो इतना आगे कह नही पाया डॉली:- इतना क्या ? मैं:- इतना सेट होके कहाँ जा रही है डॉली:- हहहहहहहा सेट होके या सेक्सी होके ? मैं:- हां, वोई  बट कहाँ डॉली:- कहीं नहीं गेम खेलने  मैं:- ओके आजा  इधर बैठ के खेलते हैं  डॉली मेरे पास आई और मुझसे बोली डॉली:- राज कितने टाइम से आइ वान्ट टू स्पेंड क्वालिटी टाइम वित यू फर्गेट दिस गेम ना अब मैं उसका इशारा समझ गया बट एक बात समझ नहीं आ रही थी, इतनी देर पहले मान नहीं रही थी, और अभी सामने से आ रही है कुछ तो गड़बड़ है  फिलहाल मैने सोचा चलो, लेट्स प्ले व्हाट शी वांट्स  मैं उठ गया और उसके पास जाके उसके गले लगाया और किस करने लगा  उम्म्म्म आहह , यअहह  उम्म्म्ममम, सक माइ लिप्स हार्डर राज उम्म्म्मममम  आहह, लव यू राज उहहहहहहहा  आइ ऑल्सो लव यू डॉली मैने कहा आहह धीरे धीरे मैं डॉली की गान्ड पे हाथ घुमाने लगा और वो मेरे लंड पे हाथ घुमाने लगी  आहह राज, कितने दिन से प्यासी हूँ, ओमम्म्ममम यस, सक मी बेबी किस तोड़के वो नीचे बैठ के मेरी जीन्स उतारने लगी  एक सेडक्टिव स्माइल के साथ डॉली नीचे झुक के मेरी जीन्स उतारने लगी अहह उम्म्म्ममम यू आर सो सॉफ्ट डियर  यअहह  मेरे मूह से निकला  डॉली ने जीन्स उतार के अंडरवेर से ही मेरे लंड को चूमने लगी  अहह भाई युवर सो हार्ड टुडे  इतनी पसंद हूँ क्या मैं आआहह आपकूवह उम्म्म्मम  कितना अच्छा लॉलीपोप है  उःम्म्म्ममम मैं:-आहह बहेन, अभी नीचे तो उतार ना , मैं चीज़ तो अंदर है, उससे देख ले ना आहह एक बार,,,,,,, तेरा मूह कितना गरम है  आअहह कहीं मेरा लंड ना जल जाए आहह तेरी इस आग में  सीईइ आहह जैसे ही उसने मेरा अंडरवेर उतरा, मेरे लंड को लेके सहलान लगी आहह भाई कितना अच्छा लंड है उम्म्म्मम  आहह, लेट मी सक इट आहह उम्म्म्मम मेरे लंड को मूह में लेके मेरी आँखो में देखने लगी मानो मुझसे कुछ कह रही हो  मैने देरी ना करते हुए सीधा उसका टॉप उतारा और उपर से बिल्कुल नंगी हुई  मैं उसके चुचे दबाने लगा  आहह रूई जैसे मुलायम  आहह डॉली कितने बड़े हैं तेरे चुचे उम्म्म्मम, इनका दूभ पिला दे ना मेरी राणियिइ आहह हम बेड पे चले गये और कपड़े उतार के एक दम नंगे हो गये  बेड पे जाते ही डॉली 69 में आ गयी मेरे लंड पे तो जैसे आग लग रही थी उपर से उसकी चूत की महक मुझे और पागल बना रही थी  आहह मेरी बहेन , उम्म्म्मममम प्लीज़ और कर ना, अहह, क्या चुस्ती है तू ह्म्म्म्म मेरे भाई, आहह गल्प गल्प  और दो ना अपना लंड, पूरा लंड उसने मेरे मूह में ले लिया था  मैं उसके मूह को चोदने लगा आहह, वो सिर्फ़ गुणन्ं गगुणन्ं कर रही थी  उसकी चूत चाटने की स्पीड मैने भी बढ़ा दी  आहह मेरी बहेन, तेरी नमकीन चूत है आहह, हाआंन्न और ले ना अंदर मेरी रानी  आहह  चूत चाटो ना भाई आहह आपके लिए ही खुली है मेरी टाँगें उम्म्म्मम येस्स्स्स और ज़ोर से म आहह  भाई,,, आअहह गलियाँ दो नाअ उम्म्म्ममम  मेक मी कम नाअ आहह  यम्मी लंड है आपका,,,,,,, आपके टटटे आहह  उम्म्म्म हां मेरी रांड़ साली, खा ना इनको, आहह, मादरजात साली आहह येस्स बेबी मेक मी कम उःम्म्म्मममम हम गालियों पे उतर आए थे डॉली आउट ऑफ कंट्रोल हो गयी आहह मेरे हरामी भाई अया साले बेहेन्चोद,,,, आहमम्म्ममम मादरचोद साले, आहह आंटी चोद भडवे,,,, आहह सब को चुदवाउन्गि साले,,, आहह यस भाई म कमिंग,,,  आहह मे गयी भाईईईईई आहह और ये कहके उसने अपना सारा पानी मेरे मूह के अंदर छोड़ दिया  आहह पानी छोड़ के डॉली सीधे होके मुझे किस करने लगी और एक हाथ से लंड हिलाने लगी  आहह भाई क्या मस्त लंड है आहमम्म्मममम यू आर सो स्वीट ना अहहह, मैं:- मेरी रांड़ बहेन तेरे पानी निकल गया, अब मेरा क्या आहह हां तो चोदो ना भाई  मेरी चूत आपकी ही है अहमम्म्मममम चोदने से पहले डॉली एक और सकिंग राउंड हो जाए बट न्यू पोज़िशन में मेरी बहेन  आहह भाई जो बोलो, मैं तो आपके लंड की दीवानी हूँ आहम्म्म्मी मैं तुरंत बेड से उतरा उसको बेड पे सुला के, उसके पेर अपने कंधे पे रखे और उल्टा लटका दिया आगे से  और उसकी चूत चाटने लगा जैसे ही मैने ऐसा किया किया डॉली की चीख निकल गई  आअहह मेरे भाई उम्म्म्म हुह एक्सपर्ट हो तुम तो आह लंड दो ना  और वो चूसने लगी  मैं भी उसकी चूत चाटने लगा  ऐसी पोज़िशन में आने के बाद मुझे लगा मेरा स्पर्म जल्दी छूट जाएगा मैने तुरत डॉली को बेड पे उतारा  उसकी टाँगों के बीच आके लंड को चूत पे टीकाया और एक धक्का मारा ज़ोर का  आआअह्ह्ह्ह्ह्ह धीरे मेरे भाई उम्म्म्मम बहुत दिन के बाद इतना टाइट लंड लिया है आहह और ज़ोर से चोदो ना मुझे  आहा भाईईइ उम्म्म्म मैने एक धक्का और मारा , मेरा लंड उसकी चूत में खो गया  सट्टा सॅट मैं उसकी चूत पे लंड चलाता रहा अहहहहहहा भाई एस्स एयशससश् एससस्स स स स सुफक्क मे, फक मे भाई  आहह  आहह लेना मेरी रानी  उम्म्म्मम आहहहाहा या चूत है तेरी आहह साली मादरचोद, भोसड़ा बन गया है,, आहममूम्म यहहयआःहा, कितने लंड आहह लिए हैं अंदर आहह छोड़ो ना भाई आहह, मैं तो गश्ती हूँ आहह, आप भी मज़े लो ना आहमम्म्म और ज़ोर से भैया मेरे यअहह बेबी फुक्कम अर हार्ड  शोव इट इनसाइड हनी आहमम्म, उसकी चूत से सटा सॅट की आवाज़ें आ रही थी पूरे रूम में आवाज़ आ रही थी उसकी, कुतिया की तरह चुदवा रही थी आहह मज़ा आ रहा था  भाई आआहहः एक मिनट रूको  समझ नही आया, बट मैने लंड निकाल के पूछा, क्या हुआ मुझे नीचे सुला के मेरे लंड पे सेट होके बोली आहह इसकी सवारी भी करनी है ना भैया और फिर मेरे लंड पे बैठके चुदने लगी  आहहः भाई सवारी कराओ ना अपने लंड की आहहाहा इस पोज़िशन में मुझे उसकी चूत की दीवारें मिल रही थी  आ हान्ं और ले ना मेरी गश्ती बहेन उम्म्म  हाानना हां भाई चोदो ना, आहहहहहाहाहाहा मुझे लगा मेरा स्पर्म निकलने वाला है मैने उसे तुरंत हटा के एक नयी पोज़िशन में लाया उसकी टाँगें बिल्कुल हवा में करके, उसकी चूत में घुसा दिया  आहहह धीरे भडवे  आअहह चोद ना आहह हाँ ऐसे चोद मेरे सैयाँ आहहहा मेरे राजा ऐसे करने से मेरा लंड उसकी चूत की गहराइयों में जा रहा था  आहह बहेन,,, मैं निकाल रहा हूँ , आहह उम्म्म्मम उसने तुरंत उठके मेरा लंड अपने मूह में लिया और पूरा स्पर्म मूह मे ले लिया डॉली मेरा पूरा स्पर्म अपने मूह में लेने की कोशिश कर रही थी  जो बूँदें उसकी मूह में नहीं थी, वो उसके हिमालय जैसे चुचों पे गिर रही थी  डॉली:- उम्म्म भाई आह कितना नम्म्कीन माल है आपका मेरी चूत तो धन्य हो गई  मैं बहुत थक गया था मुझे विश्वास नहीं हो रहा था, कि मैं इतनी देर तक झाडे बिना चुदाई कर रहा था  हम दोनो बिस्तर पे लेट गये डॉली:- क्या हुआ राज भाई  मैं:- तू चीज़ ही ऐसी है बहेन ह्म्म्मा, पूरा निचोड़ लिया तूने मेरे लंड को डॉली:- हहेहहे भाई  अभी तो बहुत टाइम बाकी है मैने घड़ी देखी तो 5 बज रहे थे, घर वालों को आने में काफ़ी टाइम था  मैं:- ह्म्म्मभ, तो गरम कर ना जानेमन मुझे मेरा लंड तो तेरे लिए ही है, जैसे तेरी चूत मेरी डॉली:- गरम नहीं भाई पहले ठंडा पियो फिर गरम हो जाओगे खुद मैं:- मैं ठंडा कहाँ पीता हूँ यार डॉली:- भाई, बियर पड़ी है घर में, हो जाए ? मैने सोचा शिट!!! ये बियर तो मैं और पायल पीने वाले थे, इसके साथ पी ली तो फिर पायल के माँगने पर कहाँ से लाउन्गा उस वक़्त डॉली:- कहाँ खो गये भाई मेरे मैं:- नहीं, कहीं नहीं  चल पीते हैं हम दोनो उठके फ्रेश होने गये और बाथरूम में एक साथ नहाने गये बाथरूम में जाते ही जैसे शवर की बूँदें पड़ी, मुझे बहुत रिलॅक्स फील हुआ  मैने डॉली को खुद से सटा लिया और उसे चूमने लगा,,,  पानी की बूँदें ठंडी और गरम माल बाहों में  मेरा लंड थक चुका था, बट मैने डॉली के चुचे चूसना सार्ट किया तो वो भी मदहोश हो गयी डॉली:- आहमम्म्म भाई आहह मज़ा दो ना और्र आहह  मैं:- तू गरम कर ना रानी  डॉली:- आआह्ह्ह्म्म्म्म हटो भी अब चलो पहले गले की प्यास बुझाओ चूत और लंड की तो कभी शांत ही नहीं होगी हेहहेहेहहे ये कहके वो निकल गयी बाथरूम से और मैं शवर लेके बाहर निकला मैं कपड़े पहन रहा था और सोच रहा था  ये इतना फ्रॅंक हुई है, ज़रूर कुछ लफडा है सोचना पड़ेगा कुछ मैं कपड़े पहन के जैसे ही नीचे पहुँचा तो देखा वो बियर लेके बैठी थी और रापचंदूस लग रही थी साली ने सिर्फ़ एक ब्लॅक कलर का टॅंक पहना था नीचे सिल्की लेसी पैंटी  लड़की चाहे नंगी हो, बट जब वो सेक्सी ब्रा पैंटी में होती है उसका असर लंड पे ज़्यादा होता है  मेरा लंड तन गया और मैं आगे बढ़ा और ठीक उसके सामने बैठ गया मैं:- तू बियर पीती है मुझे पता नहीं था डॉली:- आप ने मुझे जाना ही कहाँ है भाई और ये कहके वो सॅड हो गयी मैं:- क्या हुआ डियर, सॅड क्यूँ डॉली:- पूरा दिन तो आप पायल के साथ बिताते हो, हमे कहाँ से जानोगे, मैं:- अब से मेरा पूरा टाइम तुम्हारा पक्का प्रॉमिस डॉली:- भाई पक्का ना, फिर पलट मत जाना, और आँख मार दी मैं हँसने लगा और अपने लिए एक सिगरेट जला दी कुछ देर के बाद डॉली भी सिगरेट स्मोक कर रही थी  डॉली:- भाई, बेनसन आंड हेड्जस अच्छी नहीं है आपकी दो ना, मैने उसे सिगरेट पकड़ाई और उसने एक पफ मार के कहा उम्म्म्ममम, आपकी तो सिगरेट भी अब सेक्सी लगने लगी है  मेरे सामने अब डॉली बियर के साथ स्मोक कर रही थी पूरे दो घंटे तक हमने बियर पी साथ में सिगरेट का दौर चलता रहा घड़ी देखी तो 8 बजने वाले थे  डॉली ने पूरी दो बॉटल पी थी और बिल्कुल होश में थी मैं:- अरे वाह, युवर नोट एट अनकॉन्षियस, क्या स्टॅमिना है डॉली:- भाई ये तो फॉस्टर थी  कभी कार्ल्सबेर्ग ट्राइ करेंगे, आइ विल अरेंज इट बियर पीने के बाद हमे भूख बहुत लगी थी मैने डॉली से कुछ बनाने को कहा  भाई पहले थक तो जाओ फिर खाने में मज़ा आएगा  और ये कहके उसने मेरे सामने अपने सब कपड़े निकाल दिए  जैसे ही मैने उसके चुचे देखे, मैं उससे लिपट गया  उम्म्म भाई  क्या अच्छा लगा इन चुचों में,,,, आहह, यअहह सक इट ना माइ जान  मैं उसके चुचे चूस्ता रहा  और जीन भी खुद उतार दी  चुचे चूस्ते चूस्ते मैने उसे नीचे बिठा दिया और उसे बूब फक देने लगा आहह भाई क्या कर रहे हो आहह, म क्रेज़ी नाउ, यसस्स जैसे मेरा लंड आगे पीछे हो रहा था, डॉली मेरे लंड को भी मूह में ले रही थी और चुचे भी चुदवा रही थी  आहहह भाई,  बहुत पॉर्न देखते हो येस्स्स्स आहहाहा कहाँ से सीखा ये सब उम्म्म आहह और चोदो ना भाई आहह मैं उसके चुचे चोदने में लगा हुआ था और वो मेरे लंड के सुपाडे को अपनी जीब से रगड़ रही थी  फिर वो उठ गयी और बोली भाई बाथरूम में चोदो ना,,, आह मेरी फॅंटेसी है उम्म्म्म  मुझे हाथ पकड़ के ले गयी बाथरूम में और अपनी टाँगें खोलके शवर पाइप का सपोर्ट लेके खड़ी हो गयी  इससे उसका एक पेर हवा में था जिससे मुझे उसकी चूत दिखी बिना देर किए मैने उसकी चूत में लंड डाला और ज़ोर से चीखने लगी आआआआआआआआअ,,,, धीरे भडवे, आहह, मेरा भोसड़ा तो बना हुआ है साले, धीरे कर ना कुत्ते,, अभी चुदाई का दर्द नहीं गया आहह,,, मैं उसके बिना सुने चुदाई में लगा हुआ था  जोश में आके बाथरूम का शवर भी ऑन किया उसने और बड़बड़ाने लगी आआअह्ह्ह्ह्हह्हहहहह मेरे भाई आहान चोदो ना आअहह मैं रंडी हूँ भाई टॉप की, आहह, मेरे दलाल हो तुम आहह और चोदो   येस्स्स, अहहहहाहा फक मी हार्डर,,,, आहह बाथरूम में आवाज़ गूंजने लगा पूरा चुदाई का  मैने उसे सीधा किया और बाथटब में ले गया बाथटब में उसे घोड़ी की पोज़िशन में किया, उसके दो हाथ टब के बाहर और बाकी की बॉडी अंदर  पीछे से उसकी चूत में लंड सेट करके चोदने लगा  आआहहहहहहाहा मेरी रानी ,, ह्म्म्म्म म तेरी मा को चोदु गरम रांड़ कहीं की अहहहहहहहहा एस जानू, आहह हॉट माल है तू आहहहहहामम्म्म हां भाई चोदो ना आहह मेरी मा को चोदो आहहहहाः बेटे शन्नो आंटी की चूत मार ना,,,, तेरे अंकल चोद्ते ही नहीं आजहहहहहहा मेरे भतीजे हहाननन्ना आंट आपकी चूत मेरी है अ,ब  रोज़ आ जाओ मेरे पास अपना भोसड़ा लेके  आहहहहः,, मा की लोडि आहाहहाहः 10 मिनट तक चुदाई चलती रही  जैसे ही मैने लंड निकाला, डॉली बोली आहहाहा भाई अंदर हो डालो ना स्पर्म उम्म्म मैं गोली ले लूँगी  मैने उसके अंदर लंड फिर डाला और दो तीन धक्को में पानी निकल गया अहहहहहहहहा भाई मैं भी गयी अहम्म्म्म ममम, इस चीख से पूरा बाथरूम फिर शांत हो गया हम बाहर निकले और आके बेड पे सो गये कुछ सेकेंड्स बाद डॉली बोली डॉली:- भाई मा को चोदोगे ? मैं:- व्हाट !! वो तो सिर्फ़ चुदाई हॉट करनी थी इसलिए कहा आर यू क्रेज़ी क्या तुम पागल हो गयी हो डॉली मैने चिल्लाके कहा डॉली:- झूठ मत बोलो भाई मा का नाम सुनके आपका लंड बहुत ज़ोरों से चलने लगा था मैं उसको बताना नही चाहता था कि उसकी मा को भी चोदना है मुझे क्यूँ की शायद ये कुछ बड़ा प्लान कर रही है, जिसमे मैं फस सकता हूँ मैं:- वो तो चुदाई गरम हो तभी मैने तेरा साथ निभाया छोड़ो ना भाई आपकी मर्ज़ी मेरी मा तो चुदवायेगि ही तुमसे  इतना कहके वो निकल गयी  और मैं सोचता रह गया इसकी बातों के बारे में थोड़ी देर बाद मैं फ्रेश होके डॉली के साथ खाने चला गया  रेस्तरो में पहुँचके  डॉली:- क्या बात है, आज सब मेरी फॅवुरेट चीज़ों का ध्यान रखा है पहले फेव पिज़्ज़ा, अब फेव रेस्तरो तेरे इरादे कुछ नेक नही लग रहे मैं:- तू है ही ऐसी चीज़ डार्लिंग, दिल भरता ही नहीं मेरा  शरारती मुस्कान देके डॉली बोली अगर दिल नही भरा था तो घर पे ही रहता ना मेरा राजा  अब तो पहले मुर्गी खालू फिर तुझे खाउन्गा मेरी रानी  हम खाना खाने चले गये और टेबल पर डॉली नीचे से बहुत मज़ा दे रही थी कभी पेर के उपर पेर लगाना कभी अपने पेर से मेरे लंड पे रगड़ना  एक तो मौसम गर्म उसपे मुर्गी गरम और सामने डॉली जैसी लौंडिया मैं कैसे गरम ना होता  मैं तुरंत उठके डॉली के पास से गुज़रते हुए बोला वेटिंग फॉर यू इन बाय्स वॉशरूम  मुझे पता था वो ज़रूर आएगी आंड रिस्क बहुत बड़ा था, बट लंड से सोचा मैने उस वक़्त, दिमाग़ एक दम ब्लॉक हो गया था  जैसे ही मैं वॉशरूम में पहुँचा पीछे दरवाज़ा बंद होने की आवाज़ आई  जैसे ही मैं पीछे मुड़ा डॉली अपना जॅकेट निकाल के मुझ पे कूद पड़ी आआहह कितनी बड़ी चुदासी है तू डॉली आअहहामम्म तुम्हारे लिया है तब से भाई आहज दो ना आपका ये लोड्‍ा उम्म्म गाल्पगल्प उम्म्म आहह उहमम्म्म डीप थ्रोट कर ना रानी आहह अपने अंदर ले ना पूरा मेरी चुदासी बहेन  आअहमम्म्म अंदर ले ले ना लोड्‍ा मेरी रानी उम्म्म्म नीचे बैठके डॉली मेरा लंड लेने लगी जॅकेट तो उसका उतरा हुआ था ही उसका टॅंक मैने उतारा और उसकी ब्रा का हुक खोलने लगा  जैसे ही मैने उसकी ब्रा उतारी  ख्हट खत दरवाज़ा ठोकने की आवाज़ आई हम दोनो जल्दी से अलग हुए और कपड़े पहन लिए और डॉली को एक कॉर्नर के पी रूम में छुपा दिया  मैने दरवाज़ा खोला तो बाहर आदमी खड़े चिल्ला रहा था मुझपे बकवास किए जा रहा था और जल्दी से वो भी एक पी रूम में घुस गया  जैसे ही वो अंदर गया , मैने डॉली को आवाज़ लगाई और वो बाहर आई  बाहर आके मैने उसे इशारा करके बुलाया ताकि कोई उसे देखे नहीं  टेबल पे आके खाना आधा छोड़के हम बिल पे करके निकल गये  हम अभी आधे रास्ते में ही थे, के डॉली ने तुरंत मेरा लंड पकड़ा और चूसने लगी मैं गाड़ी चला नहीं पा रहा था अंधेरी सड़क पे मैने गाड़ी साइड में लगाई और हम दोनो बॅक सीट पे जाके लीप लॉक करने लगे  उम्म्म कितने रसीले होंठ है तेरे डॉली रानी आहबब मेरी सोना उम्म्म्म उम्म्म आहह भाई हां चूसो ना इनको येअस्स्स्स ओह माइ लवर हान्ं, लो ना उम्म्म गल्प गल्प उहह आहह किस करते करते हमने एक दूसरे के टॉप उतार दिए थे मैने जल्दी से डॉली की ब्रा उतारी और उसके चुचे मूह में लेने लगा  आहह मेरे भाई उम्म्म चूसो ना ये दूसरा भी लो ना और उसने अपना दूसरा चुचा मेरे मूह में घुसा दिया मैं उसके चुचे चूसे जा रहा था जब तक उसके निपल लाल नही हुए  आहह भाई उम्म्म अब चोदो ना प्लीज़ कब्से मेरी चूत आपके लोडे के लिए रो रही है  मैने उसकी चूत पे हाथ लगाया तो बिल्कुल गीली हो चुकी थी  मैं उसे पकड़ के गाड़ी के बाहर लाया और पीछे डिकी पे लेक उसको झुका के पोज़िशन में सेट किया  उसकी चूत के पानी से उसकी चूत इतने अंधेरे में भी चमक रही थी लंड डालने से पहले मैने उसकी चूत की एक चुस्की लगाई और चाटने लगा  सीईईयाहह उम्म्म्म आहह डालो ना आहह लोड्‍ा अब उम्म्म्म मैं तुरंत उठा और उसकी चूत में लंड घुसा दिया  आहह भाई आहह मज़ा आ रहा है उम्म्म्म चोदो ना आहह और तेज़ करो उम्म्म्म आहह ले ना मेरी सोना उम्म्म्म आहह यआःमम्म्म आहह हां दो ना और यॅ यस ओह फक हान्णन्न् चोदो मेरी बुर को भाई आह उम्म्म्मम  तेज़ी से मैं डॉली को चोदे जा रहा था आहह भाई आम कमिंग आहह आहह मैं गयी भाई आहमम्म आहहोह  मैं अभी तक नहीं झाड़ा था और तेज़ धक्के मारने लगा आहह फक फक फ़ाच फ़ाच आवाज़ें आ रही थी  आहह भाई कब निकालोगे आश्ह्ह्ह्ह्ह आपका माल उम्म्म्म आहह मैं तो थक गयी आहह आहह  मैने तुरंत उसकी चूत से लंड निकाल के उसके मूह में घुसेड दिया  ह्म्म्म्म म तेरी चूत जितना तेरा मूह भी गरम है मेरी सोना आअहह  उसके मूह की गहराइयों तक लंड घुसाने लगा मैं  उम्म्म गुन्न्नगुणन्ं आहज उम्म्म्म आहह इतना स्वादिष्ट है अस्स्शह मैं धन्य हो गयी मेरे राजा  आहह और ले ना मेरी रांड़ बहेन उम्म्म्म  चूस चूस के मेरे टटटे भी दबाने लगी इतना सब हो रहा था और सह ना सका मैं  आहह डॉली, मेरा निकल रहा है उम्म्म डॉली ने तुरंत लंड मूह से निकाल के अपने दोनो चुचो को मसला और मेरे लंड को चुचे से हिलाने लगी आहह मैं गया और मेरा पूरा माल उसके चुचों पे गिरने लगा आहह उम्म्म डॉली मेरा माल अपने जीभ से चाटने लगी आभह भाई, क्या चोद्ते हो उम्म्म मज़ा आ गया | दोस्तों आप यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है  मैने कोई जवाब नही दिया सिर्फ़ हाँफ रहा था, इतना थक चुका था  हम वापस गाड़ी में आ गये और कपड़े पहन लिए  दो भाई, गाड़ी मैं चलाती हूँ आप बहुत थक गये हो  मैं बगल की सीट पे बैठा और डॉली ने 25 मिनट में गाड़ी घर पहुँचा दी  घर जाके देखा तो सब लोग वापस आ गये थे जैसे ही हम अंदर गये आंटी ने पूछा  आंटी:- डॉली, राज, बेटे कहाँ गये थे आप लोग  डॉली:- मम्मी खाने गये थे, मेरे भाई को आज उसकी फेव डिश खिलाने गयी थी उसने मुस्कुरा के कहा  आंटी:- अच्छा तो तेरे भाई की फेव डिश क्या है, ज़रा हमे भी बता मैने सोचा आंटी आपकी बेटी की चूत है मेरी फेवोवरिट  डॉली:- टंग्डोरी चिकन है मम्मी मेरे भाई की फेव ये कहके वो मेरे गले लग गयी बट किसी को शक नही हुआ  दूर खड़ी ललिता ये सब देख रही थी, शायद उसे समझ नही आया डॉली का ये प्यार मेरे लिए और वो अपने रूम में निकल गयी  हम सब थके हुए थे मैं और डॉली चुदाई से बाकी लोग घूमने की वजह से  मैं अपने रूम में जाके फ्रेश हुए बिना ही सो गया सुबह उठके देखा तो 10 बज गये थे मैने तुरंत अपने बॉस को फोन करके कहा आज लेट होगा  तुरंत फ्रेश होके मैं नीचे जाने लगा के तभी मुझे डॉली की याद आई और उसके रूम की तरफ चला गया  जैसे ही मैं उसके रूम के पास पहुँचा मुझे डॉली के हँसने की आवाज़ आई और मैं रुक गया डॉली:- हहाहाहा हां मेरी छोटी बहेन राज को मैने फसा दिया है, अब देख उस पायल को मैं कैसे नचाती हूँ  ललिता:- क्या दीदी, अपनी छोटी बहेन की चूत का भी तो ख़याल रखो ना मैने यू-टर्न लिया और निकल गया मैने अपना मोबाइल निकाला तो देखा 10 मिस्ड कॉल्स थे, और बहुत वेट्स अप मेसेजस  जैसे ही मैं डॉली और ललिता की आधी बात सुनके मुड़ा मैने अपना मोबाइल निकाल के देखा तो 10 मिस कॉल्स और कई व्हत्सप्प मेसेजस थे  सब के सब पायल के उसका आखरी मेसेज पढ़ के मेरी चाहत पायल के लिए और भी बढ़ गयी उसका मेसेज ऐसा था “भाई प्लीज़ आन्सर माइ कॉल,,, कुछ ग़लती हुई है तो प्लीज़ माफ़ कर दो भाई बट बात ना करके इतनी बड़ी सज़ा मत दो जब तक आप माफ़ नहीं करोगे, मैं कुछ खाउन्गि पियूंगी नहीं युवर लव पायल” मैने तुरंत पायल को कॉल किया बट उसका कोई आन्सर नहीं आया  मैने बुआ को फोन किया तो उन्होने आन्सर किया बुआ:- राज बेटे प्लीज़ जल्दी घर आओ पायल को पता नहीं क्या हुआ है मैने कुछ आगे बात ही नहीं की और तुरंत पायल के घर की तरफ निकला जैसे ही पायल के घर पहुँचा बुआ बाहर ही खड़ी थी प्लीज़ राज बेटे पायल को देखो ना क्या हो गया है, रात से ना कुछ खाया है, ना पानी पिया है खुद को रूम में लॉक करके बैठ गयी है मुझे बहुत डर लग रहा है बेटे बुआ ने कहा  मैं पायल के रूम की तरफ भागा और नॉक करके चिल्लाया पायल मैं राज हूँ , दरवाज़ा खोल प्लीज़  तुरंत उसने अपना दरवाज़ा खोला मुझे अंदर लेके, फिर दरवाज़ा बंद किया और मुझसे चिपक के रोने लगी भाई मुझे प्लीज़ माफ़ कर दो क्यूँ इतनी बड़ी सज़ा दे रहे हो बात नहीं कर के क्या किया मैने भाई प्लीज़ बात करो ना मुझसे और ज़्यादा रोने लगी इतना प्यार देख के मुझे समझ ही नहीं आ रहा था क्या करूँ मेरी बुआ की बेटी मुझसे इतना प्यार करती है मैने कभी नहीं सोचा था दिल में ख़याल आया कि सब छोड़ के पायल के साथ ही रहूं हमेशा ना शादी ना कुछ क्यूँ की हर रिश्ते को नाम देना ज़रूरी नहीं होता कुछ में सिर्फ़ प्यार ही मायने रखता है उसके अलावा कुछ नहीं पर मैने अपने दिल को समझाया पायल को कासके बाहों में लिया और कहा  प्लीज़ मत रो मेरी जान  मैं नहीं हूँ तुझसे नाराज़ कल रात को सो गया था आंड फोन साइलेंट पे था भला ऐसा कभी हो सकता है कोई अपनी जान से रूठ जाए  भाई प्लीज़ मुझे अकेला मत छोड़ना कभी आइ लव यू वेरी मच   आइ लव यू टू शोना मेरी  अब चलो, नीचे बुआ भी टेन्षन में आ गयी है  आप चलो, मैं फ्रेश होके आती हूँ 10 मिनट, पायल बोली  मैने ओके कहा और उसके फोर्हेड पे किस देके कहा  डियर मुझसे इतना प्यार क्यूँ  भाई चाँद की पहचान आसमान से ही है अगर मेरा भाई नहीं तो मैं भी नहीं मैं नहीं जानती क्या होगा इस रिश्ते का बट फिलहाल मैं सिर्फ़ अभी का सोच रही हूँ आगे जो हो भगवान की मर्ज़ी मैं सिर्फ़ स्माइल देके वहाँ से निकल गया और जाके बुआ से कहा ” वो आ रही है बुआ डोंट वरी उसका ऑफीस में झगड़ा हुआ था, और वो आपको बताने से डर रही थी के कहीं आप उसकी ग़लती ही ना निकालो  हे भगवान इतनी सी बात, ये लड़की क्या करेगी राज, मैं इसी चिंता में रहती हूँ आज कल बुआ ने कहा  डोंट वरी बुआ मैं हूँ ना, मैं ध्यान रखूँगा पायल मेरी ज़िम्मेदारी है अभी  आह हाई वो तो मैं हूँ ही  हमने मूडके देखा तो पायल पीछे खड़ी थी  बुआ:- चलो बेटे, बैठो नाश्ता खा लो  हम टेबल पे बैठे और बुआ नाश्ता लाई  बेटे तुम स्टार्ट करो मैं अभी आई ये कहके बुआ चली गयी वापस किचन में  आज तो मैं अपनी बहेन को हाथ से खिलाउन्गा मैने कहा और नीवाला पायल को दिया एक  धीरे धीरे करके नाश्ता ख़तम होने आया आख़िरी नीवाले में पायल बोली  “भाई मेरा जूता नीवाला खाओगे आप ?”  मैने बिना कुछ कहे नीवाला खाया और उसे कहा और बोलो मेरी प्रिन्सेस तेरे लिए कुछ भी  ” नहीं भाई आपने मेरा नीवाला ख़ाके साबित किया आप भी मुहसे उतना ही प्यार करते हो जितना कि मैं आपसे ”  मैं:= पगली इतना प्यार करती है मुझसे  पायल:- आपके लिए जान भी हाज़िर है भाई उफ्फ तक नहीं करूँगी मैं हमेशा भगवान से प्रे करती हूँ कि आपको कुछ होने से पहले वो तकलीफ़ मुझे हो क्यूँ कि आप से ही मेरा वजूद है आप नहीं तो मैं भी नहीं  उसकी ये बात सुनके मेरे दिल में सैलाब सा आ गया मैने उसे तुरंत अपने पास लाया और उसके फोर्हेड चूम के कहा  “ऐसा मत बोल शोना मैं हमेशा तेरे साथ हूँ जान जाए तेरे दुश्मनो की मेरी रानी को मुझसे कोई जुदा नहीं कर सकता ” हम एक दूसरे में इतना खो गये थे कि अचानक बुआ की आवाज़ आई  क्या डिसकस हो रहा है बेटे जो इतना सोच रहे हो तुम दोनो बुआ ने कहा  पायल:- मोम कुछ नहीं मैं भाई को बोल रही थी, आप नहीं होते तो क्या होता मेरा, इतना प्यारा भाई भगवान ने किसी को नहीं दिया आज तक  बिल्कुल ठीक कहा बेटे राज, तुम पायल से इतने क्लोज़ हो, कि हमे लगता ही नहीं के हमारा कोई बेटा नहीं, हम हमेशा खुश हैं पायल महफूज़ हैं अपने भाई के साथ बुआ ने कहा  बुआ प्लीज़ अब आप इतने एमोशनल ना हो आंड चलिए अब ऑफीस जा रहा हूँ, पायल भी मेरे साथ चल रही है ओके अब बाइ  ये कहके हम निकल गये जैसे ही मैन रोड आया  पायल:- भाई अब बोलो, क्या हुआ  मैं:- किसका ?  पायल:- भाई, बनो मत मैं जानती हूँ आप सोए नहीं थे कल रात को झूठ मत बोलो  मैं:- बाबा झूठ क्यूँ बोलूँगा मेरी जान से  पायल:- भाई आपकी आँखें देखो एक दम लाल और आज ऑफीस लेट जा रहे हो मीन्स लेट सोए हो तो फोन क्यूँ नहीं उठाया  मैं उससे कुछ कह नहीं पाया उसके ऑफीस पहुँच के उसे ड्रॉप किया  पायल:- तो नहीं कहोगे फाइनल ?  मैं:- पायल इस वीकेंड गोआ चलें ?  पायल:- भाई बताओगे के नहीं  मैं:- चल मैं टिकेट्स बुक करके कन्फर्म करता हूँ बाइ नाउ  ये कहके मैं निकल गया वहाँ से बट मुझे पता था पायल मानेगी नहीं  मैं बताता भी तो क्या क्यूँ कि मैं खुद इतने सवालों से अंदर ही अंदर जूझ रहा था  क्या पायल सही में मुझसे इतना प्यार करती है ? क्या मैं उसके लायक हूँ ? क्या चाहती है आख़िर डॉली पायल से ?  ये सब सोचते सोचते ऑफीस आ गया और मैं ये सब साइड रख के काम में ध्यान दिया फिलहाल !!!!  जैसे ही मैने पायल को ड्रॉप किया ऑफीस की तरफ निकल पड़ा… ऑफीस पहुँचते ही मेरे बॉस मुझे घूर्ने लगा…  ये कोई टाइम है ऑफीस आने का चिल्ला के कहा… मैने जवाब दिया “सर आपको सुबह को स्मस तो किया था” आज कल बहुत लेट हो रहे हो तुम राज ध्यान रखो… धमकी देके मुझे निकल गया  उस वक़्त मेरे दिमाग़ में एक शायरी आई… “ गम-ए-उलफत में यूँ गान्ड ना मारो हमारी… जिस दिन दूसरी नौकरी मिलेगी, उस दिन मा चोद देंगे तुम्हारी”  खैर मैं अपने काम में लग गया पूरा दिन बहुत हेक्टिक निकला… मैं बहुत थक चुका था… मैने अपना काम बंद करके पायल को स्मस किया मैं:- ही स्वीटी… कॉफी ? पायल:- मीट मी @ सीसीडी नियर माइ ऑफीस इन 10 मिनट्स “इन 10 मिनट्स” पढ़ के मुझे पता चल गया आज मेरी लगाने के मूड में है पायल मैं फटाफट hot sex stories read (www.mastaram.net) (23)निकल के जाने लगा बट देखा तो ट्रॅफिक बहुत था, शाम के 8 बजे उतना रहता ही है मैं सोचने लगा पायल क्या क्या बोलेगी लेट होने से ट्रॅफिक क्लियर होने लगा और मैं धीरे धीरे बढ़ने लगा… जैसे ही मैं गाड़ी पार्क करके निकला, सामने पायल खड़ी थी और बहुत गुस्सा लग रही थी…  मैं:- हाई स्वीटी… पायल:- हाई वाइ छोड़ो… कितना लेट करते हो… इतनी देर से पागलों की तरह खड़ी हूँ…  मैं:- रोज़ फॉर माइ रोज़ हनी… कहते ही मैने उसके आगे रेड रोज़स का छोटा सा बूकेट रख दिया… पायल अपनी खुशी और आँखों की चमक को छुपाते हुए… “लास्ट टाइम” ओके ? मैं:- ओके हनी… अब चलें, मुझे बहुत हेडएक हो रहा है, कॉफी पिए हम अंदर जाके बैठे और दो ब्लॅक कॉफी ऑर्डर कर दी पायल:- अब बोलो… सुबह से क्या छुपा रहे हो… अभी तो मैं जान के रहूंगी, कोई बहाना नहीं चलेगा मैं:- कुछ नहीं यार, कल मोम दाद बाहर थे, तो मैने सोचा थोड़ी देर गेम खेलूँ फिर गेम खेलने बैठा तो टाइम का पता ही नहीं चला… जब मोम डॅड आए तब ध्यान गया तो 11 बज चुके थे, दोपहर से मैने कुछ खाया नहीं था, इसलिए उस वक़्त सो गया और सीधा लेट उठा मैने बहाना बनाते हुए कहा…  पायल:- नो वे भाई प्लीज़ डॉन’ट लाइ ओके… नहीं बताना तो ना बोल दो, मैं बार बार नहीं पूछूंगी आपसे… मैं:- अरे बाबा कुछ नहीं है, क्यूँ ज़िद्द कर रही है इतने में हमारी कॉफी आ गयी और हम कॉफी पीने लगे उम्म्म इसे कॉफी कहते हैं भाई आइ लव दिस ह्म्‍म्म… तेरे होंठों पे आके सब कुछ स्वादिष्ट हो जाता है स्वीट हार्ट पायल:- बातें नहीं बनाओ अब… जो पूछ रही हूँ वो नहीं बता रहे तो और कुछ नहीं सुनना मुझे  अरे डियर कुछ नहीं है क्यूँ ज़िद्द पे अडि हुई है… वो कुछ कहती उसके पहले उसका फोन बज उठा पायल:- हाई डॅड… ओके… ऊह हुह… ओके, मैं आती हूँ 15 मिनट में अभी ऑफीस से निकलूंगी 10 मिनट में “क्या हुआ” मैने पूछा डॅड बाहर जा रहे हैं तीन दिन के लिए… चलो मुझे घर छोड़ो और कॉफी गाड़ी में लेते हैं हम बिल पे करके निकल गये और गाड़ी भगा दी घर की तरफ बीच में बार बार पायल पूछती रही, बट मैने उसे गुज़री हुई रात की बातें नहीं बताई मैं:- अच्छा पायल ये सब छोड़ो ना, गोआ का तुमने सोचा कुछ ये वीकेंड चलें पायल:- नहीं जाना कहीं भी मुझे… और आपके साथ तो बिल्कुल नहीं  उसका गुस्सा बढ़ते देख मैने कहा ओके, मत चल बस, और मैने गाड़ी की स्पीड बढ़ा दी जिससे वो भी काफ़ी डर गयी पायल:- भाई धीरे चलो, क्यूँ डरा रहे हो अच्छा बस नहीं पूछूंगी अभी कोई सवाल थोड़ा स्लो करो प्लीज़ मैं:- और गोआ चलेगी के नहीं ? पायल:- नहीं, भले ही आप फास्ट चलाओ, आपकी मर्ज़ी… लेकिन नो गोआ आपने मेरी बात नहीं मानी तो मैं आपकी बात क्यूँ मानु हमारा डिस्कशन आधा ही रह गया क्यूँ कि उसका घर आ गया… गाड़ी से उतार के वो बाइ बोले बिना भाग गयी और मैं भी वहाँ से सीधा घर की तरफ निकला मैं घर पहुँच के सबसे पहले फ्रेश हुआ और डाइरेक्ट खाने पे गया क्यूँ कि आज ऑफीस से बहुत थक चुका था…  सब लोग डाइनिंग टेबल पर आ गये और खाने बैठ गये… मेरे ठीक सामने डॉली बैठी थी जो मुझे नीचे से बार बार टाँगों से टच कर रही थी मैं:- डॉली कुछ लगा है क्या पावं में बहुत शिवर कर रहे हैं मैने ज़ोर से सबके सामने पूछा डॉली:- एक दम सकपका गयी “ऊह नहीं तो, क्यूँ, नहीं ऐसा नहीं है, सॉरी पेर लगा तो” मैं:- इट्स ओके डियर…  पूरे वक़्त डॉली मुझे देख रही थी बट मैं उसे इग्नोर कर रहा था, क्यूँ कि मुझे कहीं ना कहीं ऐसा लगा कि मैं पायल के साथ चीट करूँगा अगर डॉली के साथ फिर कुछ किया तो और जान गया था कि वो कुछ बड़ा प्लान कर रही है जिससे पायल को नुकसान पहुँच सकता है मैं सब को गुड नाइट बोलके सोने चला गया और सीधा अपने रूम में जाके गेम खेलने बैठा करीब 12 बजे स्मस आया मुझे  डॉली:- ब्रो, दरवाज़ा खोलो, मैं बाहर खड़ी हूँ मैने इग्नोर किया और फिर गेम खेलने लगा कुछ देर बाद वापस स्मस आया डॉली:- भाई, तुम सो नहीं रहे हो आइ नो, चलो भी अब जल्दी करो मैं:- बिज़ी प्लेयिंग गेम डियर, सॉरी, वी विल टॉक टुमॉरो डॉली:- वॉटेवर भाई बाइ, जैसे ही डॉली का जवाब आया, मैने गेम पॉज़ की और गेट खोला तो डॉली जा चुकी थी  मैं सीधा डॉली और ललिता के रूम के पास गया, क्यूँ कि मैं शुवर था कि वो लोग कुछ डिसकस कर रहे होंगे अपने प्लान के बारे में ललिता:- क्या दीदी, आप तो बड़ी शुवर थी, क्या हुआ आज, खाली हाथ और खाली चूत लेके ही वापस आ गयी डॉली:- ललिता, मगज की हटा मत अब, आज राज की वजह से ऑलरेडी गुस्सा हूँ, उपर से तू मत बोल ज़्यादा ललिता:- खुद को तो कामयाबी नहीं मिली और मुझपे गरम हो रही हो… इतना आटिट्यूड इतना कहके ललिता उठकर वहीं सो गयी डॉली बैठे बैठे कुछ सोचने लगी… दोस्तों आप यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है  और फिर वो भी सो गयी मैं वापस अपने रूम में आया और सोने लगा तभी पायल का कॉल आया पायल:- हाई स्वीट हार्ट व्हाट आर यू डूयिंग मैं:- कुछ नहीं, तुम बोलो, गुस्सा उतरा पायल:- गुस्सा तो आएगा ना, अपनी स्पेशल स्वीटी को गोआ ले जाओगे सस्ते में, इंडोनेषिया नहीं ले जा सकते क्या आप मुझे मैं:- ले जाने को तो मैं तुझे चाँद पे ले जाउ यार, बट बजेट थोड़ा प्राब्लम है, इंडोनेषिया की ट्रिप के लिए 25000 कम हैं पायल:- भाई, मैं पूरी ट्रिप का पे करूँगी… बस आपके साथ वक़्त बिताना है मैं:- वक़्त बिताना है ? क्या करेगी वक़्त बिता के ज़रा डीटेल में बता पायल:- भाई, आइलॅंड की रेत पे आपकी बाहों में सोते हुए चाँद सितारे देखूँगी आपके दिल की धड़कन सुनूँगी आपको अपने दिल की धड़कन सुनाउन्गि और बहुत कुछ, बस आप चलो ना  मैं नही चाहता था कि वो कुछ पे करे इसलिए मैने उसे कहा कि नेक्स्ट मंत डन करेंगे बिकॉज़ नेक्स्ट मंत तक मेरी सॅलरी भी आएगी और मेरा इन्सेंटिव भी आएगा अगर अच्छा ख़ासा अमाउंट आया इन्सेंटिव का, तो पूरा खर्चा इन्सेंटिव से ही निकलेगा मैं:- ओके मेरी बहना… तू कुछ नहीं निकालेगी… नेक्स्ट मंत डन करते हैं, आंड ये ट्रिप तेरे लिए गिफ्ट मेरी तरफ से हॅपी नाउ हनी पायल:- वेरी हॅपी भाई लव यू वेरी मच… मवाअहह  नेक्स्ट मंत इंडोनेषिया का प्लान फाइनल करके, मैं सोचने लगा अरेंज्मेंट्स के बारे में और घर पे क्या बोलके जाउन्गा ? सोचते सोचते नींद आ गयी और सुबह 7 बजे अपने रेग्युलर टाइम पे उठ गया… उठा के आराम से फ्रेश हुआ थोड़ी न्यूज़ देखने बैठा जैसे ही मैने टीवी ऑन किया  “हाई भाई”  पीछे से आवाज़ आई  मैने मूड के देखा तो ललिता खड़ी थी पीछे… मैं सोचने लगा इसको क्या हुआ अचानक  मैं:- हाई ललिता ललिता:- क्या कर रहे हो भाई आज क्या प्लॅनिंग है मैं:- कुछ नहीं डियर, ऑफीस निकलूंगा थोड़ी देर में ललिता:- व्हाट भाई, भूल गये क्या, आज छुट्टी है ***** फेस्टिवल की मैं:- अरे वो आज है क्या, कौनसा सेलेब्रेट करते हैं यार, छुट्टी देनी ही नहीं चाहिए आज के दिन ललिता:- क्या भाई, आप तो ऐसे सॅड हो रहे हो जैसे कोई बड़ी सज़ा मिली है आपको , घर पे बैठना पसंद नहीं है या ऑफीस में कोई है आपकी स्पेशल, मुझे आँख मारते हुए कहा मैं:- अरे नहीं यार… छोड़ , तो फिर आज क्या करना है घर पे बैठ के ललिता:- आप तो ऐसे पूछ रहे हो जैसे मैं जो बोलूँगी वो आप करोगे मैं:- अरे बोल ना यार, चल आज जो तू बोलेगी वो मैं करूँगा ललिता:- पक्का ना भाई… चलो दोनो उठो हम लोग बाहर जा रहे हैं, याद है ना तुम्हे मोम:- चलो बेटा, दोनो उठ जाओ तुम्हे याद है ना हम बाहर जा रहे हैं | दोस्तों मजे से पढ़ते रहिये मस्तराम डॉट नेट पर मेरी चुदक्कड बहने और मुझे कमेंट कर कहानी की प्रतिक्रिया बताते रहिये और अगले पार्ट में पढ़िए मस्त चुदाई का मजा |


The post मेरी चुदक्कड बहने-5 appeared first on Mastaram: Hindi Sex Kahani.




मेरी चुदक्कड बहने-5

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks