All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

सास ने चुदवाया साली को



हाय रीडर्स, सबसे पहले आप सबको मेरा नमस्कार. में मोहन सिरसा (हरियाणा) से. मेरी उम्र 29 साल है और में एक कम्पनी में काम करता हूँ. मेरे पास 9.5 इंच लम्बा और 3 इंच मोटाई वाला लंड है. मैं अपने बाप का एक ही बेटा हूँ. आज मैं आप लोगो को अपनी एक रियल स्टोरी बता रहा हूँ. मेरी शादी फरवरी 2003 मैं हुई थी,मेरी शादी को करीब 4 साल और 6 महीने हो गये है, मेरी पत्नी बहुत ही सुंदर है और उससे भी सुंदर और सेक्सी मेरी दोनो बड़ी सालीयां है.


मेरी शादी के समय बड़ी साली के पास 2 बच्चे थे और उसकी शादी को करीब 6 साल हो चुके थे और मेरी दूसरे नम्बर वाली साली विधि की शादी मुझसे करीब 8 महीने पहले हुई थी, मेरी बड़ी साली अपने पति के साथ अपने ससुराल मैं रहती है और दूसरे नम्बर वाली साली विधि तकरीबन मेरी शादी के 3-4 महीने बाद अपने ससुराल वालो से नाराज़ होकर अपने मायके आ गई थी. जब वो अपने ससुराल से आई उस समय वो गर्भवती थी और मायके आने के बाद उसने एक लड़के को जन्म दिया. और विधि की डिलेवरी मायके मैं ही हुई थी. और वो अब तक मायके मैं ही है करीब 4 साल हो गये हैं उसको अपने ससुराल से आये. ससुराल मैं मेरी 2 शादीशुदा साली और 1 साला ओर सास, ससुर है. मेरी बीबी सबसे छोटी है.


sexsamachar, Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story


तो मैं अपने ससुर का सबसे छोटा दामाद हूँ. मैं अपनी इस स्टोरी मैं अपनी दूसरे नम्बर वाली साली की चुदाई आपको बता रहा हूँ. जब मेरी बीबी ने मेरी सेक्स करने की शक्ति और मेरे लंड के बारे मैं बताया तो मेरी दोनो सालीयो ने मेरे से सेक्स का मजा लेने का प्लान बना लिया. और अपनी चूत चुदाने के लिए उतावली होने लगी. मेरी बड़ी साली अपने पति के पास रहती है. और दूसरे नंबर वाली साली विधि के बारे मैं बता चुका हूँ फिर भी दुबारा बताता हूँ जो इस प्रकार है. दूसरे नम्बर वाली साली विधि के साथ ससुराल मैं कहासुनी होने की वजह से वो मायके मैं रहती है. वो शादी के करीब 3-4 महीने बाद ही मायके आ गयी थी.


मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम ख़राब ना करके अब अपनी स्टोरी की तरफ आता हूँ. दोस्तो जहाँ मैं काम करने जाता हूँ उसी रास्ते मैं मेरी ससुराल पड़ती है. जब मेरी साली विधि की डिलेवरी को 4 महीने हो चुके थे. एक दिन शाम को जब मैं ऑफीस से निकलने ही वाला था तो मेरी दूसरे नम्बर वाली साली विधि का फोन आया और मुझसे कहा की आप आज घर की बजाये यहाँ (ससुराल) मैं आ जावों   और थोड़ा शर्माते हुये कहा की प्लीज एक कन्डोम का पैकेट भी ले आना तो मैने पूछा उससे क्या करोगी तो उसने कहा की पड़ोस मैं मेरी एक भाभी है उसने मंगाया है. तो दोस्तो उस दिन शुक्रवार था और मेरा ऑफीस में शनिवार को ऑफ होता है मैं शाम को करीब 8:30 बजे अपने ससुराल पहुँच गया वैसे भी मैं मेरी साली विधि को देख मन ही मन उसे चोदने की सोचा करता और आख़िर धीरे धीरे मेरी सोच सच मैं बदल गई. और मैंने वहाँ जाकर सास व ससुर को प्रणाम किया और साली विधि को और साले को हेलो बोला. और फिर वही दामाद वाली सेवा शुरू मैं और मोका पाकर कन्डोम का पैकेट अपनी साली विधि के हाथो मैं थमा दिया और कहा की बगैर कन्डोम ही ज्यादा मजा आता. तो उसने हल्की सी स्माइल दी और चली गयी.


और फिर मैने और मेरे साले व साली विधि ने डिनर किया और फिर सोने की तैयारी हुई तो मेरा बेडरूम मेरे साले के साथ उपर कमरे मैं लगा दिया और मेरा साला सोने चला गया और मैं जाने लगे तो मेरी सास कहने लगी की बेटा तुम थोड़ी देर मैं चले जाना मुझे बात करनी है और मेरा ससुर बाहर के रूम मैं सोने चला गया और मैं अंदर वाले रूम मैं ही टी.वी देखता रहा. घर काफ़ी बड़ा है इसलिये जगह की कोई कमी नही थी.


मेरी सास और मेरी साली विधि किचन मैं काम करती रही और बीच–बीच मैं मेरी साली विधि मेरे साथ हरकत करने आ जाती और कुछ देर बाद मेरी साली विधि मेरे लिये एक दूध का जग ले के आई और पीने के लिये कहा मैने कहा इतना कैसे पीऊंगा तो मेरी साली विधि और सास एक साथ बोली अगर बेटा दूध नही पीओगे तो करोगे कैसे मैं तो इस बात को सोचकर परेशान हो रहा था. साथ मैं दिमाग़ मैं कन्डोम का मंगवाना भी घूम रहा था आख़िर मैं टी.वी मैं मस्त हो गया और धीरे धीरे मेरी आँख लगनी शुरू हो गयी. टी.वी के चलते और रूम मैं रोशनी होने की वजह से नींद हल्कीहल्की आ रही थी और सास व साली विधि की बातें भी सुनाई दे रही थी.


मेरे कानो मैं सुनाई पड़ा की मेरी सास मेरी साली विधि से कह रही थी की बेटी कन्डोम ज़रूर यूज़ करना अपने जीजा के साथ चुदते वक्त और जी लगा कर चुदवाना अपनी चूत को तुझे वैसे भी काफ़ी दिन हो गये लंड का मजा लिये आज छोड़ना मत अपने जीजू को जब तक मन शांत ना हो जाये. मैं मन ही मन बहुत खुश हुआ की साली विधि ने कन्डोम अपने लिये ही मंगाये हैं और वो आज मुझसे ज़रूर चुदेगी. और फिर कुछ देर बाद मेरी सास मेरे पास आई और बोली बेटा अच्छा किया आज तुम चले आये और बेटा आप यहीं इसी बेडरूम मैं सो जाना अभी आपकी साली विधि आयेगी और तुम दोनो इन्जॉय करना और कहा की बेटा तेरे बारे मैं तो मेरी बेटी ने जब बताया तो मैं बहुत खुश हुई इतना पॉवरफूल है मेरा छोटा दामाद। और फिर मेरी साली विधि साज संवर के रूम मैं आ गयी वो लाल कलर की कमीज़ और सलवार पहने हुये थी और बोली कैसी लगी आपको मैं जीजू मेरी साली विधि ने इशारा करके पूछा और एक सेक्सी स्माइल दी, मेरी सास तो चली गयी और मेरी साली विधि ने रूम के दरवाजे और खिडकियाँ बंद कर दी और एक खिडकी हल्की सी खुली छोड़ दी और मेरे पास आ के बैठ गयी ऊफ क्या खूबसूरत लग रही थी लाल ड्रेस मैं और मुझे कन्डोम देते हुये बोली ये मैने अपने और आपके के लिये ही मँगवाये हैं आज आप अपनी साली विधि को अपनी पत्नी समझ कर कल्याण कर दो. और फिर कुछ बातें हुई और मैंने उसको अपने पास लिटा लिया और विधि के होठ पर एक ज़ोरदार किस कर दी किस करीब 10 मिनिट तक चली.


उसने और मैने एक दूसरे के खूब जमकर होठ चूसे और बाद में मैने विधि के गालो और गर्दन पर किस करने लगा और उपर से ही विधि की चूचियों को दबाने लगा और फिर मैंने उसको कमीज़ निकालने के लिये कहा तो वो बोली इतनी भी क्या जल्दी है और फिर मेरी रिक्वेस्ट के सामने वो ढल गयी और उसने अपनी कमीज़ निकाल दी क्या गजब का सफेद बदन था और काले कलर की ब्रा मैं विधि की गोरी गोरी चूचियाँ बहुत गजब की लग रही थी वाह क्या माल है मेरी साली विधि और फिर हम दोनो एक दूसरे की बाहों. मैं जकड़ गये और फिर मैने विधि की कमर पर हाथ फेरते हुये विधि की ब्रा खोल दी अब विधि की चूचि मेरी छाती से टकराई और दोनो मैं एक करंट सा लगा और मेरा लंड अकड़ता चला गया और एकदम सख्त हो गया


फिर मैने विधि की चूचियों को गोर से देखा क्या मस्त गोरी गोरी चूचियाँ थी एकदम सफेद और चिकनी चमकदार मैं देखता ही रह गया और वो बोली क्या देख रहे हो,मैं चोका, फिर मैने विधि की एक चूचि को अपने मुँह मैं लेकर चूसने लगा और दूसरी चूचि के निपल को हाथ सहलाने व दबाने लगा और फिर कुछ देर बाद दबने वाली चूचि को चूसने लगा और चूसने वाली चूचि को दबाने लगा बहुत मजा आ रहा था विधि के मुँह से आ आ औह की अवाज आ रही थी वो भी गर्म हो रही थी फिर मैं विधि की चूचि को दबाना छोड़ कर अपने हाथ को विधि की चूत के उपर लगा दिया विधि की चूत एक दम चिकनी हो चुकी थी मुझे लगा की वो झड़ चुकी है. फिर मैं विधि के उपर लेट कर विधि के गालो, होंठो, और गर्दन को किस किया और विधि की कमर व पेट, नाभि को किस किया और फिर विधि की सलवार खोलने लगा.


मैने विधि को किस करते करते विधि की सलवार खोल कर निकाल दी अब वो मेरे सामने सिर्फ़ काले कलर की पेन्टी मैं थी विधि की काले कलर की पेन्टी के अंदर से विधि की गोरी गोरी जांघें और गुलाबी चूत दिखाई दे रही बहुत खूबसूरत लग रही थी वो क्या माल थी वो और फिर मैं दुबारा विधि की चूचियों को चूसने लगा और विधि की चूत पर हाथ फेरने लगा और धीरे धीरे मैने विधि की पेन्टी भी निकाल दी और अपनी उंगली विधि की चूत मैं डालने लगा और वो मेरे लंड को अपने हाथो मैं लेकर रगड़ रही थी और मसल रही थी मुझे भी मजा आ रहा था और मेरा लंड एकदम गर्म लोहे की राड़ की तरह सख्त हो चुका था. तो मैं उठा और अपने कपड़े निकाल कर नंगा होकर विधि के पास लेट गया और पागलो की तरह हम एक दूसरे को चूमने लगे.


फिर मैने विधि की टाँगे फैला कर विधि की गांड के नीचे तकिया रख कर विधि की जाघों व चूत को धीरे धीरे किस करने लगा मैं विधि की चूत का सारा रस पी गया और अपनी जीभ विधि की चूत में घुसा दी और विधि की चूत बहुत टाइट थी क्योकी पिछले 1 साल 6 महीने से विधि के साथ सेक्स नही हुआ था विधि की चूत एक दम कुँवारी लड़की जैसी थी. और बहुत ही सुंदर थी, फिर मेरे चूसते चूसते   उसे आनन्द आया और वो भी अपनी कमर हिलाने लगी और कुछ देर बाद वो झड़ गयी और फिर मैने विधि की चूत का सारा रस अपने होठों से चाट लिया.


sexsamachar, Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Font Sex Stories, Desi Chudai Kahani, Free Hindi Audio Sex Stories, Hindi Sex Story, Gujarati sex story


फिर मैं उठा और विधि की टांगों के बीच विधि की चूत में अपना लंड रखा तो बोली क्या आप अपना लंड मुझे नही चूसने दोगे,मैने तुरन्त अपना लंड विधि के होठों पर रख दिया उसने मेरे लंड को किस किया और मुझे लेटने के लिये कहा मैं बेड पर लेट गया, और मेरी साली विधि ने मेरा लंड अपनी मुट्ठी मैं पकड़ कर हिलाते हुये अपने होठों से किस करने लगी और लंड की टोपी अपने मुँह मैं लेकर आइसक्रीम की तरह चूसने लगी और फिर कुछ टाइम बाद मैने भी विधि की टाँगे उठा कर अपने मुँह पर विधि की चूत ले ली और फिर हम दोनो 69 पोज़िशन मैं लंड और चूत चूसते रहे और फिर मैं झड़ने ही वाला था मैने कहा की मैं झड़ने वाला हूँ, वो अनसुना करके मेरे लंड को और ज़ोर से चूसने लगी और फिर मैं झड़ गया और वो भी इस दोरान दुबारा से झड़ गयी हम दोनो शान्त होकर एक दूसरे से चिपक के लेट गये ये गेम करीब 45 मिनिट तक चला और फिर 10-15 मिनिट के बाद हम दोनो बातें करने लगे तो वो बोली की बहुत ही गाड़ा और टेस्टी था आपका वीर्य मजा आ गया इतना गाड़ा वीर्य पीने से और फिर मैने भी विधि की चूत के रस की तारीफ की और फिर मैं उसको चोदने की तैयारी करने लगा.


मैने विधि की गांड के नीचे एक तकिया रख दिया और विधि की टांगों को फेला कर विधि की चूत के मुँह पर अपना लंड रख दिया वो बोली जीजू प्लीज धीरे धीरे डालना आपका लंड बहुत मोटा और लंबा है और मेरी चूत मैं काफ़ी दिनो से कोई लंड नही डला है ये एकदम बंद सी हो चुकी है, मैने आंख मारते हुये कहा चिंता मत कर मेरी रानी आज तेरी चूत को मैं फिर से खोल दूँगा और फिर मैने अपने दोनो हाथो से विधि की चूचियों को पकड़ लिया और विधि की चूत पर अपना लंड रख दिया और विधि के होंठो को अपने होंठो मैं ले लिया और चूसने लगा और धीरे से लंड को विधि की चूत मैं घुसा दिया होंठो मैं होठ होने की वजह से विधि की अवाज़ बाहर नही आ सकी.


फिर मैने होठ छोड़ कर विधि के गालो पर किस करते करते एक ज़ोरदार धक्का लगाया लंड आधे से ज्यादा विधि की चूत मैं जा चुका था और वो चिल्लाई उईईईई माआ मररररर गईईईई प्लीज निकालो उई माआअ मर गई, मेरी चूत फाड़ दी जीजू नई ईईईई आआह्ह्ह अपने लंड को बाहर निकालो मेरी चूत फट जायेगी मुझे नही चुदवानी अपनी चूत आपसे मैं कुछ देर किस करता रहा और विधि के उपर आराम से लेटा रहा 5-7 मिनिट के बाद उसका दर्द नॉर्मल हुआ और वो हिलने लगी और मैने धीरे धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरु कर दिया वो बोली क्या पूरा लंड मेरी चूत मैं है मैने कहा नहीं जान अभी तो 3” इंच के करीब बाहर है, उसने फिर अपने हाथ से चूत और लंड को चेक किया और फिर बोली आप मेरे होंठो पर अपने होठ रख कर अपना पूरा लंड मेरी चूत मैं घुसा दो जो होगा देखा जायेगा.


मैंने विधि के कहे अनुसार किया और फिर लंड को अंदर बाहर करते वक्त मैंने एक झटका लगाया मेरा पूरा लंड विधि की चूत मैं घुस गया बहुत टाइट थी विधि की चूत बहुत मजा आ रहा था वो फिर चिल्लाई उईईइ माआ मर गईईईई, मेरी फाड़ दी जीजू नईईईईई उूउउ मगर होंठो मैं होठ होने की वजह अवाज़ कमरे मैं ही रह गयी फिर उसने कुछ देर चुपचाप लेटने को कहा मैं विधि के गाल, कान,होठ गर्दन पर किस करता रहा और बीच बीच मैं विधि की चूचियों को भी चूसता रहा और हाथो से विधि की चूचियों को दबाता रहा.


फिर उसने कहा धीरे धीरे मुझे चोदना शुरू करो और मैने अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. और वो ज़ोर जोर से सिसकारी लेने लगी मैं विधि की चूत को पूरी तेज़ी से चोद रहा था वो बीच बीच मैं कह रही थी और ज़ोर से, और वो सिसकारी लेने लगी कुछ ही समय बाद उसका दर्द मजे मैं बदल गया और वो भी अपनी कमर को हिलाने लगी, वो कह रह थी और ज़ोर से चोदो मेरी चूत को फाड़ के रख दो मेरी चूत को मैने और ज़ोर से चोदने लगा वो चुद रही थी मैं चोद रहा था और तकरीबन 30-35 मिनिट की इस चुदाई मैं वो 2 बार मैं 1 बार झड़ गया मैंने सारा वीर्य विधि की चूत मैं ही डाल दिया वो बहुत खुश थी.


फिर उसके बाद मैं 10 मिनिट तक विधि के उपर ही लेटा रहा और उसको किस करता रहा, फिर धीरे धीरे हमारी थकान दूर हुई और फिर उसने मेरे लंड को चूसा और अपनी चूत का रस अपने हाथो मैं लेकर मेरे लंड पर लगा कर चूसने लगी और फिर मैने विधि की चूत चूसनी शुरु कर दी हम दोनो फिर 69 की पोज़िशन मैं हो गये और फिर पोज़िशन को छोड़ा और एक दूसरे की बाहों मै जकड़ गये वो मुझे और मैं उसको किस कर रहा था फिर मैने उसको अपनी गांड चुदवाने के लिये कहा तो उसने मना कर दिया और कहा की मैने गांड नही चुदवाई है और मैं नही चुदवाऊँगी. मुझे बहुत दर्द होगा आप गांड के सिवा मेरा सब कुछ ले सकते हो मैं आपकी हूँ


फिर मैने विधि की गांड को सहलाते हुये उसे बताया की गांड चुदवाने में चूत से भी ज्यादा मजा आता है. और धीरे धीरे दर्द मजे मैं बदल जाता है. और वो कुछ टाइम बाद अपनी गांड चुदवाने के लिये राज़ी हो गयी तो वो बोली एक शर्त पर अगर मुझे ज्यादा दर्द हुआ तो आप वहीं रुक जाओंगे और मेरी गांड नही चोदोगे मैने हाँ कहीं और वो गांड देने के लिये तैयार हो गयी. मैने उसको उल्टी लेटने के लिये कहा और वो पेट के बल लेट गयी मैने विधि के नीचे दो तकिये लगाये और विधि की गांड पर थूक लगाया और उससे कहा की अपने हाथो से अपनी गांड को थोड़ा सा खोलो उसने वैसे ही किया.


मैने अपने लंड पर भी थूक लगाया और विधि की गांड के छेद पर रख दिया और उससे कहा की होशियार रहना लंड गांड मैं घुसने वाला है वो बोली प्लीज धीरे से घुसाना पहले इसमें लंड नही घुसा है और फिर मैने हल्का सा एक धक्का लगाया और लंड का टोपा गांड मैं घुस गया वो थोड़ी सी चिल्लाई और फिर मैने अपने हाथो से विधि की चूचियों को पकड़ कर सहलाने व दबाने लगा और कुछ देर बाद एक जोरदार धक्का लगा दिया आधे से ज्यादा लंड विधि की गांड मैं घुस गया और वो ज़ोर से चिल्लाई उईईईई मर गईईईईईईईईईईईईई, मेरी गांड फाड़ दी जीजू नही आईईईईई उूउुआअ प्लीज निकालो अपने लंड को बाहर मेरी गांड फट जायेगी मुझे नही चुदवानी अपनी गांड आप से मैं कुछ देर विधि की कमर को गर्दन को और कानो को किस करता रहा और विधि के उपर आराम से लेटा रहा 5-7 मिनिट के बाद उसका दर्द नॉर्मल हुआ.


फिर मैने धीरे धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरु कर दिया वो बोली क्या पूरा लंड मेरी गांड मैं घुस गया है मैने कहा नहीं जान अभी तो 4” इंच के करीब बाहर है,उसने एक लम्बी सांस लेते हुये अपने हाथ से गांड और लंड को चेक किया और फिर बोली आप मेरे मुँह को ज़ोर से पकड़ लो और पूरा लंड मेरी गांड मैं घुसा दो जो होगा देखा जायेगा फिर मैं विधि के कहे अनुसार किया, मैने विधि की चुन्नी से विधि के मुँह को दबा दिया. और फिर लंड को धीरे धीरे अंदर बाहर करते वक्त एक जोरदार धक्का लगा दिया और पूरा लंड विधि की गांड मैं घुसा दिया, बहुत टाइट थी विधि की गांड और मस्त भी बहुत मजा आ रहा था वो फिर चिल्लाई उई माआ मर गईईईईईईईईई, मेरी गांड फाड़ दी जीजू नहीं ऊऊऊउईईईईई उउउ आआआआ मगर मुँह के आगे कपड़ा होने की वजह से आवाज़ रूम मैं ही रह गयी.


फिर उसने कुछ देर चुपचाप लेटने को कहा मैं विधि के गाल, कान,होठ,गर्दन और कमर पर किस करता रहा और बीच बीच मैं विधि की चूचियों को भी दबाता रहा. फिर उसने कहा धीरे धीरे मेरी गांड को चोदना शुरू करो और मैं अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. और वो ज़ोर जोर से सिसकारी लेने लगी. मैं विधि की गांड को पूरी तेज़ी से चोद रहा था वो बीच बीच मैं कह रही थी और सिसकारी लेने लगी कुछ ही समय बाद उसका दर्द मजे मैं बदल गया और वो भी अपनी कमर को हिलाने लगी, वो कह रह थी और ज़ोर से चोदो मेरी गांड को फाड़ के रख दो विधि की गांड को मै और ज़ोर से चोदने लगा वो चुद रही थी मैं चोद रहा था, काफ़ी देर तक मैने विधि के उपर लेट कर विधि की गांड को चोदता रहा, वो भी मेरा साथ दे रही थी मुझे लगा की अब उसको गांड चुदवाने मैं मजा आ रहा है और फिर मैंने उसको डोगी स्टाइल मैं होने को कहा वो मान गयी और फिर वो डोगी स्टाइल मैं हो गयी मैने फिर थोड़ा थूक विधि की गांड और लंड पर लगाते हुये लंड विधि की गांड पर रखकर एक ही धक्के मे घुसेड़ दिया और वो फिर चिल्लाई उईईईई माआ मर गईईईई.


मेरी गांड फाड़ दी जीजू नहीं और कहने लगी प्लीज पूरा ज़ोर लगा कर चोदो मेरी गांड को, फाड़ दो मेरी गांड को, मुझे बहुत मजा आ रहा है. फिर मैने विधि की कमर को पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से विधि की गांड को चोदने लगा अब उसको भी मजा आ रहा था और मुझे भी कुछ टाइम बाद जब मैं झड़ने के नज़दीक पहुँचा मैने कहा मैं झड़ने वाला हूँ तो उसने कहा की मेरी गांड मैं ही झड़ने दो और फिर मैने अपने सारा वीर्य विधि की गांड मैं छोड़ दिया और कुछ देर बाद हम दोनो अलग अलग हुये, हम बिल्कुल थक चुके थे कुछ देर लेटे रहने के बाद हम बाथरूम करने गये और बारी बारी हमने एक दूसरे के सामने बाथरूम किया और फिर वापस रूम मैं आ गये कुछ देर शांत लेटे रहे, फिर जैसे जैसे थकान दूर हुई हम तीसरी बार फिर एक दूसरे को किस करने लगे और फिर मैने विधि की चूत चाटनी शुरू कर दी.


उसने भी कुछ देर बाद लंड को चूसने को कहा फिर हम दोनो 69 की पोज़िशन मैं एक दुसरे को चाटने लगे और काफ़ी देर तक करते रहे फिर मैने उसको चोदने के लिये कहा वो बहुत थक चुकी थी मगर वो तैयार हो गयी और मैं उसको उठा के बेड के किनारे पर ले आया और विधि की गांड बेड के किनारे पर रख दी और विधि की टांगों को उपर उठा लिया, ऐसा करने से विधि की चूत थोड़ी उपर की तरफ आ गयी और मैने विधि की दोनो चूचियों को पकड़ लिया और दबाने लगा और लंड विधि की चूत के मुँह पर रख कर एक जोरदार धक्का लगा कर विधि की चूत मैं पूरा घुसा दिया वो चिल्लाई उईईईई माआआ मररररर गईईईईईईईई प्लीज निकालो उई मा मर गईईईई, मेरी चूत फाड़ दी जीजू नहीं उूउउ आआअ और फिर मैं उसको धीरे धीरे चोदने लगा कुछ देर बाद उसका दर्द नॉर्मल हुआ और वो कमर हिला हिला के मेरा साथ देने लगी.


अब मैं उसको धीरे धीरे चोद रहा था. की अचानक मेरी सास रूम मैं आ गयी मैं एक दम रुक गया मेरी सास बोली बेटा रूको मत, मेरी इस रंडी बेटी को पूरे ज़ोर से चोदो,इतनी ज़ोर से चोदो की इसकी चूत और गांड फट जाये, इस रंडी का अपने पति से काम नही चला ये उससे संतुष्ट नही हुई और उसको छोड़ आई बेटा इसे अपनी रंडी समझ के इसको पूरे ज़ोर जोर से चोद डालो और मेरी कमर थपथपा के होंसला बडाने लगी, फिर क्या था मैने उसको बेड के बीच में लिटा लिया और विधि की गांड के नीचे दो तकिये रख दिये और एक तकिया विधि की गर्दन के नीचे रख दिया फिर मैने विधि की दोनो टांगों को अपने कंधो पर रख कर विधि के मुहँ की तरफ झुक गया और विधि की दोनो चूचियों को अपने हाथों मैं ले कर मसलने लगा और ऐसा करने से विधि की चूत एकदम उपर आ गयी और मैं उपर और मेरी सास पास में खड़ी होकर देख रही थी और कह रही थी जल्दी से इसकी चूत मैं अपना लंड डाल कर इसकी जोर से चुदाई कर दो बेटा, फिर क्या था मैने अपने लंड की तरफ इशारा किया.


मेरी सास ने झट से मेरा लंड अपने हाथो मैं पकड़ कर एक चुंबन लिया और मेरी साली विधि की चूत के मुँह पर लगा दिया और बोली बेटा एक ही धक्के मै पूरा लंड घुसा दो इसकी चूत मैं, मैने वैसे ही किया और चिल्लाई उईईईई माआआ मररररर गईईईईईईई प्लीज निकालो उईई माआआ मर गईईईईईई, मेरी चूत फाड़ दी जीजू नही ईईईउउु आआआआ मेरी सास बोली अब ले मजा तू अपने जीजू से बहुत खुजली हो रही थी. तेरी चूत मैं अब मिटा ले अपनी खुजली और वो चली गयी, मैं अपनी साली विधि को पूरे ज़ोर शोर से चोदने लगा करीब 1 घन्टे तक मैं उसको उसी पोज़िशन चोदता रहा बाद मैं मैने विधि की टांगों को छोड़ दिया और विधि के उपर लेटे लेटे उसको चोदता रहा. मैने उसको सुबह के 5 बजे तक चोदा फिर मैने विधि की चूत मैं लंड को झाड़ दिया.


उस रात वो 10-11 बार झड़ी और मै पूरी रात मैं सिर्फ़ 5 बार झड़ा. फिर हम अलग अलग हुये और मैने उसको अपना लंड चूसने को कहा उसने मेरे लंड पर जो माल लगा हुआ था वही चाट कर छोड़ दिया और वो अपने कपड़े पहन कर अंदर चली गयी और मैं अपने कपड़े पहन कर उपर के रूम मैं सोने चला गया चारपाई पर लैटते ही थकावट के कारण नींद आ गयी. और करीब सुबह के 10 बजे को मेरी आँख खुली मैने उठ के सुबह की दिनचर्या से निपट कर मैं अपनी चारपाई पर लेट गया और मेरी सास मेरे लिये दूध लेकर आई साथ मैं काजू, बदाम भी ले के आई, और मुझे खाने के लिये कहा, मैं दूध के साथ काजू बदाम खाने लगा, इसी बीच मेरी सास ने पूछा की बेटा केसा रहा रात का प्रोग्राम, मैं तो बिल्कुल शरमा गया और उसने मेरे लंड पर हाथ रखते हुये दुबारा फिर कहा तो मैने कहा बहुत मजा आया सासू जी और रात की सारी बात उसको बता दी.


मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और मैने कहा की सासू माँ क्या दिन मैं फिर प्रोग्राम हो सकता है, तो मेरी सास ने मेरा लंड सहलाते हुये कहा की बेटा अगर तुम्हारे ससुर जी सो जायेगे तो तुम्हारा दोपहर मैं प्रोग्राम हो सकता और वो मेरा लंड देखने के लिये कहने लगी मुझे बहुत शर्म आ रही थी मगर उसने मेरा पजामा निकाल कर मेरे लंड को देख एक चुंबी ले ली और बोली काश ये लंड मेरी चूत और गांड को भी मजा दे तो मजा ही आ जायेगा मुझे बहुत शरम आ रही थी, फिर उसको किसी ने आवाज़ लगा दी और वो नीचे चली गयी और मैं कुछ देर वहीं लेटा रहा और फिर मैने और मेरी साली विधि ने लंच किया और फिर मैं ससुर के सोने का इंतजार करने लगे,और ससुर जी लंच करके बाहर अपने कमरे मैं जा कर सो गये.


मेरा साला किसी काम से बाहर चला गया. और फिर मेरी सास मेरे पास उपर रूम मैं आई और बातें करने लगी और उसने मुझसे कहा की अगर आप अपने लंड से मेरी चूत और गांड भी चोदो तो मैं तुमसे तुम्हारी दूसरी साली को भी चोदने दूँगी, मगर मुझे बहुत शर्म आ रही थी मगर मैं साली विधि को दोपहर मैं चोदना चाहता था, और फिर मैने सोच विचार करके सासू जी को हाँ कह दी और साथ मैं कह दिया की अगली बार जब आऊँगा तब चोदूगा मैं आपको इस बार नही और मेरी सास मान गयी और बोली की बेटा मेरे सामने चोद दो आप मेरी बेटी को मैं तुम दोनो की चुदाई देखना चाहती हूँ, मेने हाँ कही और उसने तुरंत मेरी साली विधि को मेरे पास बुलाया और खुद कोने मैं कुर्सी पर बैठ गयी और दोपहर की चुदाई देखती रही.


मैने दोपहर मैं मेरी साली विधि को 2 घन्टे तक अलग– अलग स्टाइल मैं चोदता रहा और दोस्तो फिर मैने मेरी साली विधि को उस दोरान 3 रात और 2 दिन तक लगातार चोदता रहा मेरी साली विधि मुझसे चुदवा के बहुत खुश थी और मैं भी. और दोस्तो जब से लेकर अब तक मैं मेरी साली विधि को चोदने के लिये महीनें मैं 2-3 बार रात मैं अपने ससुराल पहुँच जाता हूँ जब भी जाता हूँ तो उसको पूरी रात अपने लंड से मजा चखाता हूँ और खुद विधि की चूत का और विधि की गांड का मजा लेता हूँ. अगले एपिसोड मैं आपको मैं अपनी साली विधि व सास को एक साथ चोदने की स्टोरी बताऊँगा मगर उससे पहले मुझे इंतजार है आपके कमेन्ट का और बताना की मेरी ये स्टोरी आपको कैसी लगी. ताकि मेरा होसला बड़े और मैं आपको अपनी रियल स्टोरी बता सकूँ, ताकि मैं अपनी अगली कहानी भी लिखूं.




The post सास ने चुदवाया साली को appeared first on Sex Samachar.




सास ने चुदवाया साली को

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks