All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

जन्नत की रानी कोमल दीदी


प्रेषक : शुभम …


हैल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम शुभम है और में नई मुंबई से हूँ। यह मेरी पहली कहानी है और मुझे उम्मीद है कि आपको अच्छी लगेगी और पहले में आपको अपने बारे में बता दूँ। में एक 21 साल का लड़का हूँ और में 2-3 महीनों से घर में अकेला रहता था, जिससे मुझे कई प्रोब्लम हो रही थी, जैसे खाना बनाने की और भी बहुत प्रोब्लम आ रही थी। फिर एक दिन मम्मी का फोन आया तो मम्मी बोली कि मेरी बड़ी कज़िन सिस्टर कोमल पढाई के लिए आ रही है, जो कि अब तुम्हारे साथ ही रहेगी। फिर वो आ गई, में उनसे बचपन में मिला था, अब तो वो बाप रे इतनी हॉट दिखने लगी थी कि पूछो मत। वो पूरा दिन कोचिंग जाती थी और घर पर शाम 7 बजे तक आती थी, में अपने लंड को रोज़ पूरा नंगा होकर तेल की मालिश करता था।


एक दिन वो जल्दी आ गई और घर की दो चाबी थी तो एक उनके पास थी और एक मेरे पास थी। में बेड पर नंगा सोकर तेल की मालिश कर रहा था और मुझे कुछ भी होश नहीं था और में अपनी धुन में था। फिर अचानक मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि कोमल दीदी मेरे सामने खड़ी है और मुझे और मेरे लंड को देख रही है। अब में उन्हें देखकर डर गया और अपने आपको छुपाने लगा, लेकिन दीदी ने कुछ नहीं बोला और चेंज करने के लिए चली गई। फिर उन्होंने खाना बनाया और जब हम खाना खा रहे थे, तब मैंने उन्हें सॉरी बोला और रिक्वेस्ट किया कि आप मम्मी पापा को कुछ मत बोलना तो उन्होंने कुछ जवाब नहीं दिया और में बहुत डर गया। फिर हम दोनों अपने-अपने कमरे में सोने चले गये, मुझे डर के कारण कुछ देर तक नींद नहीं आई। फिर मेरी हल्की सी आँख लग गई, लेकिन अचानक से मुझे मेरी पेंट के ऊपर किसी के हाथ का एहसास हुआ और जिससे में जाग गया।


फिर मैंने थोड़ी सी आँख खोलकर देखा तो कोमल दीदी अपनी नाईटी में मेरी पेंट के ऊपर हाथ घुमा रही थी। फिर मैंने कुछ देर ऐसे ही सोने का नाटक किया। अब वो मेरी पेंट के अंदर हाथ डालने लगी थी तो  उनका हाथ लगते ही मेरा क़ुतुब मीनार खड़ा हो गया और दीदी उसे ज़ोर-ज़ोर से ऊपर नीचे करने लगी।  फिर दीदी ने मेरे लंड को अपने मुँह में लिया और में तो जन्नत में था और अब में आह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह की आवाज़ निकालने लगा। फिर दीदी बोली कि जाग जा शुभम और मेरा साथ दे, अब में उनके बालों को सहलाने लगा और अब मुझे इतना मजा आ रहा था कि में आपको बता नहीं सकता। फिर दीदी मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी। फिर उन्होंने मेरे सर को किस किया, फिर गाल को, फिर लिप किस लिया, करीब 5 मिनट के किस के बाद वो मेरी गर्दन पर किस करने लगी।


फिर वो मेरे निप्पल चूसने लगी और में भगवान को थैंक्स बोल रहा था, क्योंकि वो दिन मेरा सब से लकी था और अब मेरी बारी थी। फिर मैंने दीदी को पलटा और अब में उनके ऊपर था और वो मेरे नीचे थी। फिर मैंने भी उन्हें उनके तरीके से सर, गाल, लिप पर बहुत सारे किस किए।


फिर गर्दन पर एक इमरान हाशमी के जैसे किस किया। अब दीदी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। फिर मैंने उनकी नाईटी को उनके कंधो से नीचे किया और किस करने लगा और अब दीदी भी पूरी गर्म हो चुकी थी, तभी बीच-बीच में हम दोनों बहुत किस भी कर रहे थे। फिर मैंने उनकी नाईटी को खोल दिया, वो पिंक कलर की ब्रा और पेंटी में कयामत लग रही थी और उनका फिगर 32-28-30 था। फिर मैंने उनके बूब्स को दबाना स्टार्ट किया और दीदी भी आवाज़े निकालने लगी। फिर मैंने उनकी ब्रा भी खोल दी और  में उनके निप्पल चूसने लगा। फिर करीब 15 मिनट तक यह खेल चलता रहा।


फिर में धीरे-धीरे उनकी पेंटी के पास गया और वहां पर किस करने लगा, दीदी को भी बहुत मजा आ रहा था। फिर 10 मिनट तक उनकी चूत चूसने के बाद दीदी ने अपना पानी मेरे मुँह में ही छोड़ दिया और थोड़ा पेशाब भी कर दिया और मैंने पेशाब पूरा पी लिया। फिर दीदी नीचे बैठकर मेरे 7 इंच के लंड को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगी, वो कभी-कभी मेरे अंडकोष भी मुँह में ले रही थी। मुझे लगा कि दीदी को सेक्स का बहुत अनुभव है तो मैंने उनसे पूछ लिया कि दीदी आप वर्जिन हो तो दीदी बोली हाँ तो फिर में बोला कि पर आपको यह सब कैसे पता? तो वो बोली कि में रोज़ ब्लू फिल्म देखती हूँ। फिर मैंने अपना वीर्य दीदी के मुँह में निकाल दिया। फिर कुछ देर में मेरा लंड फिर से जाग गया। फिर मैंने दीदी को बेड पर लेटाया और अपने लंड को उनकी चूत के ऊपर रखकर उन्हें तड़पाने लगा। अब दीदी ज़ोर-जोर से बोलने लगी, शुभम जल्दी डालो और मुझ कली को फूल बना दो। फिर मैंने थोड़ा सा जोर लगाकर अपने लंड को उनकी चूत के अन्दर डालने लगा, लेकिन उनकी चूत का छेद ज्यादा खुला नहीं था तो जिसकी वजह से मुझे लंड घुसाने में परेशानी आ रही थी। उसकी चूत में मेरा लंड आधा घुस चुका था और में उनकी सील तोड़ चुका था, अब दीदी को बहुत डर लग रहा था। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।


फिर थोड़ी देर में दीदी अपने आपको ऊपर नीचे करने लगी। फिर मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और पूरे रूम में पच-पच अया-अया की आवाजे आने लगी। फिर 20 मिनट के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गये। फिर हम दोनों ने एक दूसरे को किस किया और बॉडी पर हाथ फेरने लगे। इतनी देर में मेरा लंड फिर से  जाग गया और अब दीदी मेरे लंड को अपने बूब्स के बीच में रखकर ऊपर नीचे करने लगी, आह्ह्ह क्या मजा आ रहा था? फिर करीब 15 मिनट के बाद मैंने दीदी से बोला कि में झड़ने वाला हूँ। फिर दीदी मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी और में एक बार फिर से झड़ गया। फिर हम दोनों एक दूसरे की बाहों में सो गये ।।


धन्यवाद …





जन्नत की रानी कोमल दीदी

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks