All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

दीदी को बजाया उनकी ससुराल


चुनमुनिया के सभी रीडर्स को मेरा प्यार भरा नमस्कार दोस्तो मेरा नाम श्याम है, Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai मैने अभी कुछ दिन पहले ही बड़ी दीदी किरण के साथ सेक्स किया था. वो कहानी “बहन को बजाया” मे पढ़ चुके हैं है, किरण दीदी ने मुझे अपने ससूरम मे बुलाया था. मैं फिर से बता दूं मेरा नाम श्याम है, मेरी उमर 20यियर्ज़ है, मैं गोरखपुर का रहने वाला हू, मेरी शादी नही हुई है, किरण दीदी मेरे बड़े पापा की लड़की है. दीदी की उमर 22 यियर्ज़ है, जिनकी शादी हो चुकी है, एक दो साल की बच्ची है, किरण दीदी बहुत ही खूबसूरत, काले बाल, भूरी आखे है, गान्ड उभरी हुए, चुचि मीडियम साइज़ की एक दम टाइट मस्त गोल गोल, दीदी के पति दीदी को ठीक से चोद नही पाते है. और काम के सिलसिले मे अक्सर बाहर ही रहते है. जीजा के परिवार मे एक बड़े भाई का परिवार है जो अलग रहते हैं, और एक लगभग 55 यियर्ज़ की बूढ़ी माँ, जो इनके साथ रहती, 05/08/2013 को किरण दीदी ने मुझे सुबह 6 बजे पर फोन किया और बोली, श्याम तुम यहा आ जाओ मैने पुछा क्यूँ, वो बोली मज़ाक छोड़ तेरे जीजा जी बाहर काम से गये है, वो 2 दिन बाद लौटेंगे मैने कहा ठीक है 10:00 बजे तक आता हू दीदी बोली आना ज़रूर. दोस्तो ये कहानी आप चुनमुनिया डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं


05/08/2013 10:15 सुबह किरण दीदी के ससुराल गेट पर पहुचा किरण दीदी खड़ी थी, गेट खोला मैं अंदर गया किरण दीदी मुझे पकड़ कर मुझे किस करने लगी, मैने कहा कोई देख लेगा वो अंदर लेकर गई, बच्ची सो रही थी, मैने कहा अम्मा कहाँ है किरण दीदी बोली वो कीर्तन मे गई है, किरण दीदी ने मॅक्सी पहन रखी थी, मुझे पानी पिलाया उसके बाद अपने बाद रूम मे ले गई, पहले से ही डीवीडी मे नंगी फिल्म की सीडी लगाई थी उसे ऑन किया, और मुझे किस करने लगी, 7-8 मिंट किस करने के बाद वो मेरे कपड़े उतारने लगी मैने भी उनकी मॅक्सी उतार दी वो अंदर सिर्फ़ पैंटी पहेनी थी, उनके दूध की तरह सफेद शरीर को देख कर मेरे बदन मे करेंट सा दौड़ गया, मैं उनके बूब्स को दबाने लगा वो टाइट थे.दोस्तो ये कहानी आप चुनमुनिया डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं


फिर मैं एक बूब्स को चूसने लगा दूसरे को हाथ से मसल रहा था, किरण दीदी का शरीर गरम था. किरण दीदी के बूब्स को चूस रहा था, दीदी मेरे सर और पीठ पर हाथ फेर रही थी, कुच्छ देर के बाद दूसरे बूब्स को चूसने लगा दीदी अब और गरम हो रही थी किरण दीदी आआअहह आहह्ा आहहा आअहह अहह करने लगी मैने दीदी से बोला किरण दीदी मेरे लंड को चूसो वो देखो बीएफ मे भी वही कर रहा है, दीदी मेरे आगे नंगी ही बैठ गई, और मेरे लंड को मूह मे लेकर चूसने लगी दीदी बोली आज तेरा लंड और बड़ा दिख रहा है मैं बोली दीदी आप की याद मे रो रो कर सूज गया है लंड 8 इंच लंबा 3 इंच मोटा था, दीदी लंड को चूस रही रही थी मैं भी दीदी के मूह को चोदने लगा धक्के मारने लगा कभी कभी दीदी के गले तक पहुच जाता दीदी खांसने लगती मुझे खूब मज़ा आ रहा था,


15 मिनिट लंड की चुसाइ के बाद मैने दीदी के मूह मे पानी को गिरा दिया दीदी सारा पानी पी गई, मैं किरण दीदी से बोला दीदी अप खड़ी हो जाइए दीदी खड़ी हुई, मैने दीदी की चढ्ढि (पेंटी) को नीचे सरकाया देखा कि दीदी की चूत मे गाजर है मैने पुछा दीदी आप जानती थी कि मैं आ रहा हू तो इस गाजर का क्या मतलब दीदी बोली अरे सुबर तेरे पास फ़ोन करने के बाद तेरी चुदाई बार बार मेरी आखो के सामने दौड़ रही थी दोस्तो ये कहानी आप चुनमुनिया डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं मैने अपनी चूत को गाजर से चोदा पर मज़ा नही आया मैने गाजर को चूत मे ही रहने दिया ताकि चूत का रस गाजर मे भर जाए और तू इसे खाकर मेरी चूत की अच्छी चुदाई करे, मैने चूत से गाजर निकाल कर आधा खाया आधा दीदी को खिलाया, मैं दीदी के पैरो के पास बैठ कर दीदी की चूत को देखा, चूत एक दम गीली हो गई थी और लाल भी मैं दीदी की चूत को चाटने लगा दीदी बोली आज मेरी चूत को बढ़िया से चाट मैं चूत को चाट रहा था दीदी अपने हाथो से अपने बूब्स को दबा रही थी.


चूत चाटने मे खूब मज़ा आ रहा था दीदी अब आआहहहह आआआअ अहह उउउ उऊहह आआआआअ आआअहह हह उूुुुुुुउुआहह आआहह ईईईईईईईईईई ईउउुुुुुुुुुउउ कर रही थी और बोली श्याम चूत को जीभ से ही फाड़ डाल चूस ले चूत का सारा रस मैं भी चूत मे जीभ को डाल डाल कर चूत को चूस रहा था, दीदी की चूत की फांको को ज़ोर ज़ोर से दाँत से काट भी लेता दीदी बोली मेरी छूट को काट कर खा जाएगा क्या खा जा तेरी दीदी की चूत है मैं मगन हो कर चूत को चाट रहा था, लगभग 20 मिंट बाद दीदी झड़ने वाली थी बोली श्याम मेरा पानी गिरने वाला है मैने जीभ को चूत मे अंदर डाल कर पूरी चूत को मूह मे ले लिया और जीभ से दीदी की चूत को चोद रहा था कुच्छ देर बाद दीदी झाड़ गई मैं उनका सारा पानी पी गया, दीदी शांत हो कर बेड पर लेट गई मैं भी उनकी बगल मे लेट कर दीदी के होठ को चूसने लगा.


वो भी मेरे होंठ को चूस रही थी इसी तरह कभी वो मेरे होंठो को चुसती कभी मैं उनके होंठो को कुच्छ देर के बाद मैं उनके बूब्स को चूसने लगा, दीदी फिर से जोश मे आने लगी मेरे शरीर के उपर एक पैर रख कर चूत को मेरे शरीर से रगड़ने लगी मैं दीदी के बूब्स को चूस रहा था 20 मिंट बाद दीदी बोली श्याम मेरी चूत मे अपना लंड डाल और मेरी चूत को चोद जब तक कि चूत फट ना जाए दीदी की चूत बहुत छोटी थी मैने ही चोद कर थोड़ी जगह बनाई थी मैं दीदी से बोला दीदी आप कुतिया की तरह हो जाओ वो वैसे ही हो गई मैने पिछे से लंड को किरण दीदी की चूत पर रख कर ज़ोर का धक्का दिया मेरा आधा लंड अंदर चला गया मैं दीदी से बोली दीदी आप की चूत तो चौड़ी हो गई है दीदी बोली लगातार 5 दिन तक जो तुमने मोटा लंड मेरी चूत मे पेल कर तुमने पहले ही बेचारी का भोसड़ा बना दिया था


मैने फिर एक ज़ोर का धक्का दिया मेरा पूरा लंड अंदर चला गया दीदी एयाया आ आआआहह हह श्याअंम्म्म ज़रा धीरे सएआआाअ बड़ा दर्द हो राहहा है, मैं लंड को धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा दीदी थोड़ी देर बाद गान्ड उठा-उठा कर मेरे लंड को चूत मे लेने लगी मैने किरण दीदी से बोला दीदी मज़ा आरहा है दीदी बोली हाअ चोद अब तुझमे जितनी ताक़त हो मैं भी और ज़ोर से चोदने लगा दीदी आआााआहह्ा आहह्ा आआआआआआआअहह उूुुुुुुुुुुुुउऊहह आहह्ा आआआआआअहह उूुुुुुुुुुुउऊहहााअहह आआअहह आआहह्ा अहहहहा करने लगी मज़ा आरहा था चोदो श्याम अपने दीदी को खूब चोदो तेरे जीजा तो चोद नही पाते है तू चोद जितना चोदना चाहता है चोद मज़ा आरहा है. दीदी को 20 मिंट तक चोदा उसके बाद दीदी झाड़ गई मैं भी चोदता रहा और दीदी की चूत मे ही झड गया बड़ा मज़ा आया हम दोनो बॅड पर लेट गये कुच्छ देरी के बाद हम दोनो बाथरूम मे गए और मैने दीदी की चूत की सफाई की दीदी ने मेरे लंड की,


मैने कपड़े पहने और दीदी ने सिर्फ़ मॅक्सी पहनी चढ्ढि एक दम गीली हो गई थी, दीदी ने खाना निकाला हम दीदी एक ही थाली मे खाना खाए मैं चोराहे पर घूमने चला गया. मैं लौट कर आया तो 2 बाज चुके थे गेट खुला था मैने गेट बंद किया अंदर गया तो देखा दीदी के रूम का दरवाजा खुला है, देखा कि हाथ को मॅक्सी उपर कर के चूत पर रख कर सो रही है मैने धीरे से अंदर गया, मोबाइल मे दीदी की फोटो खीची और मैं किचन मे गया वहाँ से एक गाजर ले कर दीदी के रूम मे गया दरवाजा बंद किया अपने सारे कपड़े उतार दिए दीदी की चूत पे से उनके हाथ हटा कर गाजर को उनकी चूत के मूह पर रख कर चूत के अंदर थेल दिया और मैं बॅड के नीचे बैठ गया दीदी अचानक उठी मॅक्सी को नीचे किया देखने लगी दरवाजा बंद है वो जान गई कि मैं वापस आ गया हू, दीदी बोली श्याम बाहर निकल सोते हुए मे चूत मे गाजर डालता है, मैं बाहर निकला दीदी ने देखा कि मैं एक दम नंगा हू वो पूछने लगी, श्याम कब आए हो मैने कहा जब आप चूत पर हाथ रख कर सो रही थी दरवाजा भी खुला था कोई अंदर आता तो दीदी बोली आया नही ना, गाजर को बाहर निकाल रही थी मैने कहा दीदी चूत मे रहने दीजिए, दीदी ने छोड़ दिया फिर दीदी मेरे लंड को चूसने लगी मैं दीदी से बोला दीदी इसे छोड़िए मैं आप को नया चीज़ कर के दिखाता हूँ आप कुतिया की तरह हो जाओ किरण दीदी तुरंत वैसे ही हो गई.


मैं पीछे उनकी उभरी हुई गोल गोल गान्ड को चाटने लगा. मैने लंड को दीदी की गान्ड पर रख कर बोला दीदी अब आप की गान्ड मारने जा रहा हूँ सुना है, गान्ड मारने मे जितना मज़ा है उतना चूत मे नही, दीदी बोली मेरी गान्ड फट जाएगी मैं लंड को गान्ड मे धक्का देने लगा पर मेरा लंड गान्ड के अंदर नही जा रहा था, मैने दीदी के दोनो गोल गोल चुतड़ों को हाथ से पकड़ कर चौड़ा किया लंड को धक्का मारा मेरा 2 इंच लंड अंदर गया दीदी रोने लगी नही दोस्तो ये कहानी आप चुनमुनिया डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं मैने कहा दीदी थोडा दर्द बर्दास्त कीजिए तभी तो मज़ा आएगा मैने फिर से ज़ोर का धक्का मारा मेरा पूरा लंड अंदर चला गया दीदी आआआआआआआआआअहह आआआआआहह्ा आआआआआआहह दर्द हो रहा है श्याम मैं रुक गया दीदी की गान्ड से ब्लड निकलने लगा मैने दीदी को नही बताया


फिर थोड़ी देर बाद मैने दीदी की गान्ड मारनी सुरू की लंड को दीदी की गान्ड मे धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा अब दीदी को मज़ा आने लगा दीदी बोली श्याम चोद अपनी दीदी की गान्ड जितनी चोदनि है दीदी आआहहहह अहहााआहहाआआआआअ आआआआअहह हह हह करने लगी मैं दीदी की गान्ड मारता रहा दीदी झाड़ चुकी थी मैं भी दीदी की गान्ड मे झड गया लंड को गान्ड से बाहर निकाला लंड खून से लाल हो गया था दीदी देखी बोली फाड़ दी ना मेरी गान्ड मैं बोली दीदी यह कुच्छ नही है ठीक हो जायगा. अब दीदी खड़ी हुई ठीक से चल नही पा रही थी मैं उन्हे पकड़ कर बाथरूम ले गया और उनकी गान्ड चूत को साफ किया कमरे मे ले आया बाद मे मॅक्सी पहनाकर सुला दिया मैने दीदी को दो गोली दर्द की दवा देकर फिर से चुदाई की मैने दीदी को 12 बार चोदा, दीदी बोली जब तेरे जीजा घर पर नही होंगे तब तुझे बुलाउन्गी मैने कहा ठीक है जीजा जी के आने से पहले, तीसरे दिन सुबह घर चला आया…

दोस्तो कैसी लगी मेरी दीदी की चुदाई अपने विचार ज़रूर देना




दीदी को बजाया उनकी ससुराल

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks