All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

पराया मर्दों की लंड की प्यासी


दोस्तो ! मुझे गैर मर्दों की बाँहों में सुख मिलता है, यह मैं पहले भी बता चुकी हूँ!

पति के पास कनाडा आकर भी मुझे वो सुख नहीं मिल पाया और मुझे यहाँ पर भी गैर मर्द की बाँहों में जाना पड़ा।

मैं यहाँ तो आ गई और पति के पास रहने लगी लेकिन यहाँ मुझे भी काम करना पड़ता था मेरे आने की वजह से पति अपने दोस्तों से अलग रहने लगे। मैंने तो कहा था कुछ दिन उनके साथ रुकते हैं। लेकिन फ़ोन का बिल, गैस का बिल, पानी का बिल, हर महीने घर की किश्त जाती।

मुझे जिस पब में काम मिला था, वहां मेरी दोस्ती पीटर से हुई। जल्दी ही यह दोस्ती शारीरिक सबंधों में तबदील हो गई। उसके बाद पीटर ने मुझे खूब चोदा, अपने दोस्त के साथ मिलकर मेरा बाजा बजाया, उसके बाद दोंनो ने मुझे चार हज़ार अमरीकी डॉलर भी दिए। उसके बाद हम नीचे पब में वापिस आ गए और मैं उनको ड्रिंक सर्व करती रही।

जाते हुए अपना मोबाइल नंबर दिया और टिप की तौर पे ५०० अमरीकी डॉलर दिए मुझे पैसों की ज़रुरत थी। इंडिया में मैंने बहुत ऐश की थी और अब मेरे सर पर काम करने का बोझ था इसके बिना यहाँ कोई गुजारा नहीं था सो तभी जब मैंने पीटर को कॉल लगाई और बात की उसने मुझे एक व्यस्क मूवी में काम करने की ऑफर दी। उसके दोस्त ने कहा कि एक इंडियन लड़की की मूवी इंडियन मार्केट में धमाल मचा देगी। उसने मुझे कहा कि फिल्म डबल एक्स होगी और उसकी अच्छी कीमत देने को तैयार है लेकिन मैंने बदनामी के डर से सोचने के लिए कहा। फिर सोचा कि वैसे भी तो मैं करवाती हूँ।

मैंने उनके सामने शर्त रखी कि मेरे चेहरे को इस कदर तरीके से मेक-अप किया जाए, मतलब आँखों पे स्टीकर, गालों पे स्टीकर !

वो मान गया।

मैंने ७०,००० डॉलर लेने को बोला।

वो मान गया।

मैंने उसे कहा- यह फिल्म टोरंटो में नहीं, कहीं और बनाओ !

एडबर्ग में फ़िल्म बनाना निश्चित हुआ। नाम था- पेओर इंडियन स्लाट विद इग्लिश मेंस

सी हाउस रेंट लिया गया।

वहां पहुंची। पीटर के साथ मुझे बिकनी दी गई और मेरा पहला सीन था सनबाथ !

मैं वहां अकेली बीच पे लेट गई। मेरे हाथ में मोबाइल था जिसपर मैं लेटी हुई ब्लू क्लिप्स देखते हुए अपने बूब्स मसलने लगती हूँ और फिर पैंटी में हाथ डाल चूत को !

कैमरे के सामने थोड़ा नर्वस थी।

तभी वहाँ तीन आदमी आये, एक नीग्रो था और दो गोरे !

तीनों आकर जब मुझे चूत, मम्मे मसलते देखते हैं और मुझे कहते हैं- बेबी एनी प्रॉब्लम?

मेरी चूत को देखते हुए थोड़ी स्माइल देते हैं, बिना कुछ कहे मैं भी स्माइल पास करती हूँ! ऐसा करते ही तीनों मुझे वहां से गोदी में उठाते हुए सी हाउस में लेकर जाते हैं।

आर यू इंडियन?

येस !

ओके ! नीड हेल्प ?

यम ! मैं फिर से स्माइल देती हूँ, एक गोरा मेरी पैंटी उतार देता है और अपने मुँह को चूत पे रखते हुए चातने लगा मेरे सर पे खड़े दो मर्द ! दोनों ने कुछ नहीं पहना था। उनके लौड़े देख देख कर चूत चटवा रही थी मैं !


नीग्रो का लौड़ा मुँह में ले लिया और गोरे का हाथ में !

वो बोला- हे बिच ! व्हाट्स योउर एज ?

२७ !

ओह वो इंग्लिश में बोल रहे थे। मैं आपको हिंदी में बताती हूँ !

मैं सताइस साल की हूँ !

पहली बार कब चुदी?

नौ साल पहले !

तुझे हमारे लौड़े कैसे लगे?

यम ! बहुत अछे लगे !

बोले- आज तेरे दोनों छेदों को एक साथ चोदेंगे ! पसन्द करोगी ?

हां चोदो मुझे !

और कैमरा मैन ने कंडोम की डिब्बी फेंकी। मैंने उसके लौड़े पे कंडोम चढ़ा दिया और उसने अन्दर डाल दिया।

हाय क्या लौड़ा था !

उसने रफ़्तार पकड़ी। मैंने भी अब एक धन्धे वाली कॉल-गर्ल की तरह अपने आपको बेशर्म कर दिया। लौड़े का तो मुझे पहले से बहुत चस्का था। नीग्रो का लौड़ा देख कर मैं पागल हो गई। इतना बड़ा लौड़ा !


डर भी लगता था !

गोरा रुक गया। नीग्रो ने कंडोम डालते हुए मुझे लौड़े पे बैठने को कहा। इतना बड़ा लौड़ा, लेकिन देखते ही मैंने पूरा अन्दर ले लिया और उसका लौड़ा अन्दर मेरे गर्भाशय से टकराता तो मुझे जन्नत दिखने लगती !


वाह क्या लड़की है !

बिच है !

गोरा पीछे आया और मेरी गांड के छेद को चाट करके ऊँगली डालते हुए जगह सी बनाई।

एक लौड़ा चूत में था। मुझे उसकी चेस्ट की तरफ नीचे दबाते हुए गोरे ने मेरी गांड को खोलते हुए उस पे लौड़ा रख कर धक्का मारा और उसका आधा लौड़ा गांड में समां गया। दर्द से मैं तड़पने लगी। लेकिन देखते ही दोनों के लौड़े में खुद बोल बोल कर डलवाने लगी। इतना मजा एक लौड़ा मेरे मुँह में दो मेरे अन्दर !


उसने कहा- तू अपनी भाषा में गरम बातें कर ! ताकि लोग इसको और खरीदें !

आह चोद मुझे मादरचोद ! फाड़ डालो मेरी चूत ! बना दो भोंसड़ा ! हाय मेरे राजा ! चोदो ! कमीने तू मुंह में डाले रख !

अब उनमें से एक ने अदला बदली कर ली और जिसका चूस रही थी अब उसने डाल लिया और तेजी से चोदने लगे। करीब पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद तीनों ने एक साथ अपने लौड़िं का सारा पानी मेरे चेहरे, होंठ हर जगह उगल दिया और मैं उनके पानी से तर हो गई। रहता हुआ पानी मैंने चाट के साफ़ कर दिया।


वे बोले- एन्जॉय बेबी?

येस !

दोस्तो, अभी तो फिल्म का पहला सीन वहाँ फ़िल्माया गया। उसके बाद अगला सीन मुझे होटल में करना था जिसमें दोनों बन्दे नीग्रो थे और उनके लौड़े कैसे होंगे यह अनुमान लगाओ और बताओ कैसी लगी मेरी चुदाई ?


दोस्तो, हर कोई पूछता है- यह असली है?

हाँ ! यह असली है !

कनाडा में मेरी सर्विस के लिए मुझे इ-मेल कर दो अब मेरे पास एक बी.एम.डबल्यू, एक मरसिडीज़ और एक पोश कार है। मैं एक हाई प्रोफाइल कॉल गर्ल बन चुकी हूँ और एक अडल्ट क्लब अपना है।


The post पराया मर्दों की लंड की प्यासी appeared first on Desi Sex Stories.




पराया मर्दों की लंड की प्यासी

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks