All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter

हेलो दोस्तो…Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter मेरा नामआशीष उम्र 21 सालहै. में आपकेसामने एक कहानीलाया हूँ. येकहानी मेरी माँकी सहेली सुनीताकी है. मेरीमाँ की सहेलीसुनीता की उम्रकरीब 40 से ज्यादाही होगी परवो लगती नहीथी. उनके पति  ऑफीसके काम सेअक्सर बाहर जातेथे और उनके2 बच्चे थे. एकलड़का जो होस्टलमें पड़ता थाऔर एक लड़कीजिसकी कुछ टाइमपहले शादी हुईथी.

वो मेरी माँकी कुछ टाइमपहले ही नईसहेली बनी थी. फिर वो मेरेघर आने लगीसुनीता आंटी हमेशासाडी ही पहनतीहै. में उनकेबारे में  कभी कुछगलत नही सोचताथा. आंटी मेरेघर आई औरमेरी माँ सेकहने लगी. मेरेघर में कोईनही होता हे. में आशीष सेकभी कुछ कामहोगा तो उससेकरा लूंगी.

Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter
Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter
Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter

मेरी माँ नेहाँ कह दियाआप कोई भीकाम हो इसको बोल दियाकरो. ये करदेगा फिर क्याथा सुनीता आंटीमुझको एक दोदिन मैं कुछना कुछ समानमगाती रहती थीऔर में उनके घर मेंजाता रहता परकभी घर केअंदर नही जाताथा. बाहर सेउनको समान देकर चला जाताथा.

एक दिन आंटीने मुझको कॉलकिया की आशीषमेरे साथ तुममार्केट चलो मुझकोकुछ समान लेनाहै. उन दीनोबारिश हो रहीथी. मैं आंटीके घर केबाहर आया औरकॉल की आंटीमैं गयाहूँ….. आंटी नेक्या साडी पहनीथी. रेड सिल्ककलर की सिल्कीसाडी. मैने इतनाध्यान नही दियाक्यूकी में आंटीके बारे मेंकभी भी गलतनही सोचता था.

में आंटी कोबाइक में लेजाने लगा औरआंटी को मार्केटले आया. आंटीने कुछ घरका समान लियाऔर फिर आंटीएक शॉप मेंगयीजहापेंटी और ब्रामिलता था. मेंशॉप के बाहरही रुक गया.
आंटी बोली आशीषक्या हुवा मेंबोला आंटी आपही जाइए आंटीने बोला चलोना कोई दिक्कतनही है. आंटीके साथ अंदरचला गया आंटीने शॉपकीपर सेकुछ पेंटी औरब्रा मंगवाई. आंटीका साइज़ 42 था. आंटी ने 3 पेंटीऔर ब्रा पसंदकर ली औरआंटी को मेंघर लाने लगातभी बारिश होनेलगी.
आंटी और मेंतोड़ा भीग गये. हम जैसे आंटीके घर पहुचेतभी बारिश तेज़हो गयी. आंटीबोली आशीष अंदरचलो जल्दी सेमैं बाइक लगाके आंटी केघर चल दिया.

आंटी ने अपनेघर का दरवाजाखोला और हमअंदर गये. मैंआंटी के घरके अंदर पहलीबार गया था. आंटी ने कहाआशीष ये लोटॉवल जल्दी सेड्रेस उतार लोनही तो ठंडलग जायगी. मैंकहा आंटी कोईबात नही मेंबारिश कम होतेही चला जाउगा. आंटी ने कहाअरे आशीष तुम्हारीड्रेस पूरी भीगगयी है. तुमबीमार हो जाओगे. मैने आंटी कीबात मान लीऔर ड्रेस उतारली और टॉवलको पहन लियाऔर आंटी भीड्रेस चेंज करनेचली गयी. अपनेरूम मेंआंटी जबवापस आई तोक्या लग रहीथी. वो पिंककलर की नाइटीमें आई औरमेरे सामने कर बैठ गयी.

फिर आंटी बोलीआशीष में चायबना कर लातीहू. उस टाइमतक मेरे लिएआंटी के लिएकुछ ग़लत नहीसोच रहा था. फिर आंटी चायलेकर आई औरमेरे सामने कर बेठ गयीऔर हम दोनोचाय पिने लगेऔर आंटी इधरउधर की बातेकरने लगी की.. आशीष तुम क्याकरते और क्याकरना चाहते हो..

फिर आंटी कहनेलगी आशीष मेंब्रा चेक करलू की साइज़सही है यानही अगर सहीनही होगा तोतुम चेंज करलाना. फिर आंटीअंदर गयी औरथोड़ी देर बादआंटी ने मुझकोआवाज़मारी. आशीष ज़राअंदर आना.

में टॉवल मेंही अंदर गयाऔर अंदर जातेही मेरी आँखेखुली की खुलीरह गयी. आंटीपेंटी और ब्रामें थी. ब्रापहनने की कोशिसकर रही थी.

आंटी बोली अंदर जाओ. मेंहिम्मत करके अंदरगया और आंटीबोली आशीष ज़राइसको पहनाना मुझसेहुक लग नहीरहा. में बोलाआंटी मेंआंटीबोली तो क्याहुआमें आंटीकी ब्रा काहुक लगाने लगाऔर चुपके चुपकेउनके मोटे बोब्सदेख रहा था. आंटी मुझसे पूछनेलगी आशीष तुम्हारीकोई गर्लफ्रेंड है…. मैं उस टाइमचुप रहा आंटीफिर बोली बताओना मैं किसीको नही बोलूंगी…..
मैं बोला आंटीऐसी कोई बातनही हे. मेरीकोई गर्लफ्रेंड नहीहै. आंटी क्यूझूट बोल रहाहे. मैं बोलाआंटी कोई मिलीनही. . .Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter

आंटी बोली तुमकोकिस तरह कीलड़की चाहिए.. मैंबोला जो मुझकोप्यार करे. आंटीबोली हा सहीहै. .  मैनेआंटी के ब्राका हुक लगादिया. आंटी मेरेसामने सीधी होकर खड़ी होगयी. उनके मोटेमोटे बोब्स देखाकर लंड खड़ाहो गया औरटॉवल से साफदिखने लगा. आंटीने देख लिया. फिर आंटी बोलीआशीष ज़रा वोवाली लाना जोबाद में है.. मैं उस दूसरीब्रा लेने गया. तब तक आंटीने अपनी ब्राउतार दी औरमेरे सामने सिर्फ़पेंटी मैं थी. मेरे दिमाग़ हीकाम नही कररहा था. आंटीबोली लाओ. मैंलेकर आंटी केपास गया. आंटीबोली क्या हुवाआशीष कभी किसीओरत को ऐसेनही देखामैंकहा नही आंटीमेरे लंड कीतरफ़ देखकर बोलीये क्या हैमें बोला आंटीकुछ नहीआंटीमेरे पास आईऔर मेरे लंडको छूने लगी.

में पागल साहो रहा था. आंटी ने मेराटॉवल निकाल दिया. मैं अपने अंडरवेयरमें था. आंटीमेरे लंड कोअंडरवेयर के बाहरसे हिलाने लगीमुझसे कंट्रोल नहीहुआ मैं आंटीको बाहो मेंभर लिया औरउन को किसकरने लगा.

आंटी बोली आशीषकाफ़ी टाइम सेतेरे अंकल नेमुझको प्यार नहीकिया. इस लिएमैने ये सबकरा अगर मैंतुझसे बोलती तोतू मुझसे बातभी नही करताक्योकि तुमको मुझमैं क्यामिलेगा.

मैने बोला आंटीऐसी बात नहीहै. में आपकोआज से प्यारकरुगा. आंटी मुझकोकिस करने लगी. मैंने आंटी कोगोद में लियाऔर बेड मेंलेटा दिया.

मैने आंटी कीपेंटी के उपरसे ही उनकीचूत मसलने लगाऔर उनके बोब्सको चूसने लगा. आंटी मस्त आवाज़निकालती जा रहीथी. मैने आंटीकी पेंटी उतारदी मैनेदेखा आंटीकी चूत मेंएक भी बालनही है पूरीलाल चूत थी.

आंटी बोली मैंनेआज ही साफकिया है. मुझेआज तुझसे जोमिलना था.. मैनेकहा क्या बातहै सालीवोहँसने लगी औरमेरे लंड कोआगे पीछे करनेलगी. में उसकेबोब्स चूसते चूसतेउसकी नाभि कोकिस और चाटनेलगा. उसने कहाआशीष अपनी आंटीको मत तड़पाओप्लीज़ अपना लंडडालो. मैंने कहाअच्छा. मैने आंटीके पेरो कोफेलाया और उनकीचूत में अपनालंड रखा. धीरेसे अंदर डालनाशुरू किया. एकझटका दिया आंटीकी चीख निकलगयी और मैंनेअपनी स्पीड बड़ाली और आंटीकी आवाज़ मुझकोदीवाना करने लगी. हहा... हम्म हहाआईमैने स्पीड सेउनकी चूत केअंदर बाहर अपनेलंड करता रहा. आंटी ने अपनापानी छोड़ दिया. पर मेरी स्पीडचल रही थी. 15 मिनट बाद मेराभी निकलने वालाथा.

मैंने पूछा आंटीकहा निकालू वोबोली बाहर निकालदो. मेने अपनालंड बाहर निकालाऔर आंटी केऊपर ही निकालदिया.

आंटी बोली अरेतूने अपनी आंटीको गन्दा करदिया.. मैंने कहा आंटीलो इसको चुसोना आंटी बोलीये सब अच्छानही होता. मैनेकहा आंटी प्लीज़.. वो मना करनेलगीमैनेअपने लंड उसकेमूह के अंदरडाल दिया औरउनको चूसने कोकहा वो मनाकरने लगी परमैने कहा आपमुझसे प्यार नहीकरती.

फिर आंटी नेकहा ऐसा नहीचलो मैं तुम्हारालंड चूसती हुऔर वो मेरेलंड को चूसनेलगी और मेरेलंड को उसनेपुरा सॉफ करदिया और कहनेलगी. तुम सबकोइस में क्यामज़ा आता है.

थोड़ी देर बादमेरा लंड तेय्यारहोने लगा औरआंटी अपनी आपकोसॉफ करने गयीबाथरूम. फिर आंटीसॉफ होकर बाहरआई मेरा मनऔर कर रहाथा.

मैने कहा आंटीअभी और करेआंटी क्यू नही. मैं आंटी कोकिस करने  लगा औरउनके बोब्स कोचूसने लगा. मैनेआंटी की चूतमैं फिर सेअपने लंड कोरखा और फिरसे एक झटकामारा और अपनालंड पुरा  अंदर डालदिया और अंदरबाहर करने लगाऔर आंटी अपनीकमर उपर नीचेकरने लगी औरमैं मारता रहा.
फिर आंटी कोअपने उपर बैठायाऔर वो मेरेउपर लंड कोपकड़कर उपर नीचेहोने लगी. 15 मीं. तक करता रहा. फिर मैं आंटीको एक टेबलके ऊपर बैठायाऔर उन कीचूत मैं अपनालंड डाल करशॉट मारा.
फिर मैं उनकोबेड पर लेटाकर मारने लगा. 30 मीं. बाद मेरामाल निकलने वालाथा. मैंने आंटीके अंदर हीछोड़ दिया. आंटीबोली आशीष येक्या किया.. मैंनेकहा आंटी इसकाअसली मज़ा अंदरही है औरवो बोली तूबहुत बदमाश हैचल हट मेरेउपर से.. मैंआंटी के उपरही लेट गयाऔर बोला आंटीरूको ना ज़राआप को किसकरने दो मैंआंटी के बोब्सचूसता रहा औरआंटी के साथतोड़ी देर सोयारहा.
शाम के 5 बजगये थे परमेरा मन घरजाने हो नहीकर रहा था. आंटी बोली घरनही जाना.. मैनेकहा आंटी आपकोछोड़ कर जानेका मन नहीकर रहा. आंटीबोली तो क्याहुवा रुक जाअपनी आंटी केपास और प्यारकर पूरी रात. मैं कुश हुवाऔर सोचा आजसही टाइम है.Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter
मैने घर मैंकॉल कर केबोला दिया आजमैं अपने दोस्तके यहा रुकगया हू. कुछकाम है. आंटीको बाहो मैंलेकर किस करनेलगा. आंटी बोलीरुक जा आजपूरी रात हीतेरी है.. पूरीरात मुझको प्यारकरोमैंखुशी से आंटीको कस केबाहो मैं जकड़लिया और किसकरता रहा  और वोभी साथ देनेलगी थोड़ी देरहम एक दूसरेको किस करतेरहे.
फिर उसने कहाअभी तोड़ा आरामकर लो . . . हमबाद में प्यारकरेगे. फिर वोअपनी नाईटी पहनकर किचन मेंगयी और तोड़ाखाने के लिएस्नेक लाई औरबोली चलो खातेहै. मैंने कहाआंटी आप मेरेगोद में बेठो. .  औरआप मुझको अपनेहाथो से खिलाओ. आंटी बोली येअच्छी बात हैचलो तुम टॉवलपहन लो. मैंनेबोला आंटी कुछनही होता मेंऐसे ही आपको गोद मैंबेठाउगा. आंटी मेरेगोद मैं आकरबेठ गयी औरअपने हाथो सेस्नॅक खिलाने लगी. और हम आपसमें बाते करनेलगे. मैंने आंटीसे पूछा आंटीआप ने कितनेटाइम से सेक्सनही किया था. आंटी बोली मैं2 साल से ऊपरहो गया है.
मैं बोला आंटीआप कैसे अपनेआप को संभालरही थी. वोबोली मैं अपनेबोब्स से हीदिल कुश कररही थी. मैंबोला आंटी आपके साथ सेक्सकरके मज़ा रहा है. लगताही नही आपकी उम्र 40 है. आंटी बोली आजतुमको और मज़ादुगी. मैं बोलाआंटी आपके साथसाथ एक औरमिले तो मज़ा जायेगा. आंटीबोली क्या कहारहा है बदमाश.. मैं बोला आंटीआप की औरकोई सहेली हैतो उसको भीबुलाओ ना प्लीज़.. वो मना करनेलगी मैंने कहाआप को मुझसेप्यार नही हैइस लिए आपमेरा दिल तोड़रही हो. . . वोनही ऐसी बातनही है. . .
फिर आंटी बोलीमेरी एक सहेलीहै उसको भीसेक्स करना है. वो भी तेरेजैसा लंड खोजरही है.
मैंने कहा बुलाओना.. आज रातआप के औरउसके साथ सेक्सका मज़ा लियाजाय.

आंटी बोली आजरात तो नहीहोपायेगा. कल काट्राइ करती हू. आंटी बोली आजअपनी आंटी कोचोद कल तुझको2 की चूत मिलेगी.

मैं खुश हुवाऔर आंटी कोकिस करने लगाऔर उन केबोब्स दबाने लगा. मैने कहा आंटीआपकी गांड कामज़ा चाहिय. आंटीने कहा नहीदर्द होगा. .  मैंने कहा आंटीलेने दो नाआंटी ने कहाचलो ले लो. . आंटी फ्रीज से मख्खनलेकर आई औरमेरे लंड मैंलगाने लगी औरअपनी गांड मैंभी लगा लिया. मैने आंटी कोघोड़ी बना लिया. बेड पर लेजाकर और उनकीगांड मैं अपनालंड डालने लगा.
मख्खन होने केकारन लंड उनकीगांड में जानेलगा और आंटीकी आवाज़ आनेलगी. आआहहाअउई.आंटी को दर्दहोने लगा.

आंटी बोली आशीषनिकाल लंड.. मैंनेकहा आंटी रूकोअभी दर्द कमहो जायेगा औरमैं अपनी स्पीडसुरु कर दी. मेरे लंड आंटीकी गांड मेंपूरा चला गयाऔर आंटी तड़पतीरही पर मैनेकुछ नही सुनाऔर अपना लंडआंटी की गांडके अंदर बाहरकरता हुवे झटकेमारता रहा.

आंटी की आवाज़भी कम होतीजा रही थीऔर उनको भीमज़ा आने लगा. मैने आंटी कीगांड 10 मीं. तकमारी मेरा लंडपूरा जोश मेंथामैंनेआंटी को सीधाकिया और अपनालंड उनकी चूतमैं रखा औरझटके मारना शुरूकिया.
Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter
Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter
Desi Aunty Romance With Her Friend's Daughter

मैं आंटी कोकिस करने लगाऔरझटके मारता रहा. मेरापानी निकलने वालाथा. मैने स्पीडतेज की औरमैने आंटी कीचूत में हीनिकाल दिया.

मेरा लंड अबशांत हो गया. मैंने टाइम देखा10 बज गये थे. मैंने कहा आंटीअब मैं चलताहू. कल पूरीरात करना है. आंटी बोली आजभी करो ना.. मैंने कहा आंटीआज नही. वरनाकल नही होपायेगा.

मैने आंटी कोबोला आंटी कलकेलिए तेयार होनाहै. आज आरामकर लू औरकल आपकी सहेलीभी तो होगी. आंटी बोली देखोकल बात करतीहु.


मैने कहा आंटीकल का पक्काहै. मैं आपऔर आपकी सहेलीठीक हे.. आंटीहसने लगी औरबोली अरे हाआशीष कल कापक्का बस.

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks