All Golpo Are Fake And Dream Of Writer, Do Not Try It In Your Life

Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani

हाय फ्रेंड्स में रिंकूNashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani फिर से आपकेलिये एक नईस्टोरी लेकर आयाहूँ इस साइटपर मेरी यह30 वी स्टोरी हैतो अब स्टोरीपर आते हैबात ये उनदिनों की हैजब कॉलेज मेथा में ग्रेजुयेशनफाइनल ईयर मेथा में अपनेहॉस्टल मे रहताथा मेरे एकचचेरे बड़े भैयानॉएडा मे अपनीवाइफ के साथरहते थे मेरीभाभी तकरीबन 28 सालकी है उनकेकोई बच्चा नहीथा उस समयतक वो बहुतही सुन्दर औरअट्रॅक्टिव थी उनकीफिगर बहुत हीअच्छी थी 34-28-36  मैं शनिवारऔर रविवार कोउनके यहाँ मिलनेके लिये चलेजाया करता था.
Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani
Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani


भाभी देवर कारिश्ता होने केकारण हमारे बीचबहुत मज़ाक भीहोता था जोकभी कभी सेक्सीबातों को लेकरभी हो जाताथा भाभी कभीमेरी बातों काबुरा नही मानतीथी एक शनिवारको में उनसेमिलने गया भैयाऑफीस गये हुयेथे मैने भाभीसे कहा भाभीचलो मूवी देखनेचलते है भाभीने पूछा कौनसी मूवी देखनीहै और कहाचलेंगे मैने बतायाचलो शिप्रा मोलमे चलते हैमर्डर मूवी लगीहै और मोलमे रेस्टोरेंट भीहै लंच भीवही कर लेंगेजल्दी तैयार होजाओ.
Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani
Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani

भाभी–  ओकेक्या पहनूं ?

मे –  मस्तसी साड़ी ओपनस्लीव ब्लाउज सेऔर हाइ हीलकी सेंडल जिससेचलते समय आपकीचाल मस्तानी लगे.

भाभी ने मुस्कुराकेपूछा –  देवरजी इरादा क्याहै?

मे –  आपकेहुस्न की आगसे मोल मेआग लगाने का(मैने आँख मारतेहुये जवाब दिया.)

भाभी शिफोन की साड़ी, ओपन नेक, डीपनेक ब्लाउज स्मालरब्रा के साथपहन कर आईजिससे उनकी चूचीयांउपर झलक रहीथी.

भाभी–  कैसीलग रही हूँमैं देवर जी?

मे –  भाभीतुम तो पटाखालग रही होपहले ही फायरब्रिगेड को फोनकर दूं क्या?

भाभी–  ऑश! नॉटी हो गयेहो कोई नईगर्लफ्रेंड हूँ क्यामें ?
(भाभी ने मेरेआर्म पर चिमटीकाटते हुये बोला)

मे –  आजतो बिजलियाँ गिरेगीमोल मे.

भाभी–  ऊऊओसच्ची! टिकट कॉर्नरकी पिछली वालीसीट की लेनाआराम से देखसकते है (भाभीने मुस्कुरा करकहा.) और मैनेभी सर हिलाकर सहमति दी.

मैने भाभी सेकहा बाइक सेचलेंगे  क्योकीकार से टाइमलगेगा मेरा मनबाइक पर भाभीकी  चूचीयोंको महसूस करकेमज़ा लेने काथा.

भाभी–  चलोलेकिन धीरे धीरेचलना.

मे –  अगरपीछे से कुछचुभेगा तो ब्रेकभी लगेगा.

भाभी ने कंधेपर मारते हुयेकहा हट इसकामें क्या करूँये तो होगाही.

मे –  क्यादूर दूर बैठीहो प्यार सेपकड़ो ना.

भाभी गले परहाथ रखकर बैठतीहै.

मे –  अरेभाभी कमर परपकड़ो ना ऐसेचलने में दिक्कतहो रही है.

भाभी–  ओहदेवर जी मेंआपकी गर्लफ्रेंड थोड़ेही हूँ जोचिपक कर बेठू.

मे –  प्यारीभाभी तो होदेवर दूसरा वरहोता है.

भाभी कमर मेदोनो हाथ डालके चिपक केबैठ जाती हैअब उनकी चूचीयांपीठ पर महसूसहोने लगती हैमेरा लंड खड़ाहोने लगता है.

मे –  मेराबाबा खड़ा होनेलगा भाभी.

भाभी उसे दबातेहुये बोलती है–  रोड़पर क्या सुझताहै रे.

हम मोल तकपहुँच गये मेंभाभी को बाइकसे उतारकर टिकटलेने के लियेचला गया भाभीने मुझे मेरीपेन्ट पर बनेटेंट को दिखाके थैला दियाऔर बोला इससेढँक लो लोगदेखेंगे तो क्यासमझेंगे में टिकटलेने चला गयाऔर बाइक भीपार्क करके गया कॉर्नर कीसीट मिल गयीथी भीड़ कमथी हम लोगअंदर चल दियेमूवी स्टार्ट होगयी उपर चढ़तेसमय (सीट तक) में भाभी कोसहारा देता हूँऔर पीठ परहाथ सहला देताहूँ भाभी नेमुस्कुराकर बैठने को कहास्क्रीन पर मर्डरका फेमस सुपरहिटसोंगकभी मेरेसाथ एक रातगुजार तुझे सुबहतक में  करूँ प्यारचल रहा थाइमरान हाशमी औरमल्लिका का लवसीन चल रहाथा.

ये देख केहम दोनो गर्महो गये थेमैने अपना हाथभाभी के कंधेपर रख दियावो सिसकी फिरमैने हाथ थोड़ानीचे करके उनकीचूची दबा दीवो थोड़ा मेरेपास आई औरहल्की सिसकारियाँ लेनेलगी हमारे 2 सीटनीचे एक कपलएक दूसरे कोकिस कर रहाथा मैने भाभीको कहा भाभीदेखो ना मेरालंड खड़ा होगया कुछ करोना नीचे देखोना वो कपलभी मज़े लेरहा है भाभीमेरी जाँघो कोदबाते हुये बोलतीहै क्या देवरजी तुम्हे भीयही दिखाई देरहा है.

मे –  हाँभाभी अपनी ब्लाउजखोलो ना  में तुम्हारीचूची चुसूंगा.

भाभी–  क्यादेवर जी यहीपागल हो गयेहो क्या?

मे –  थोड़ासा चूसने दोना अंधेरे मेकोई देखेगा नही.

भाभी एक तरफतो मुझे मनाकर रही थीऔर दूसरी तरफमेरे पास सिमटतीजा रही थीभाभी ने अपनेलिप्स मेरे कानके पास किसकरने के लियेघुमाया और उसीसमय मैने अपनेलिप्स उनकी तरफ़घुमा दिया हमारेलिप्स एक दूसरेसे टकरा गयेहम लोग अबएक दूसरे केलिप्स चूस रहेथे हम लोगअब एक दूसरेकी जीभ कोटेस्ट कर रहेथे भाभी मेरीजाँघो को दबारही थी उनकीसांसे अब तेजहो रही थीहम लोग एकदूसरे को मस्तीमे किस कररहे थे मैनेअपना एक हाथउनके पेटीकोट केअंदर डाल दियाऔर उनकी चूतके बालों परउंगली घूमाने लगावो सिसकारियाँ भरतेहुये अपनी टाँगेंफैला दी मैनेअपनी पेन्ट काचेन खोल केअपना लंड उनकेहाथों मे देदिया.

भाभी–  हायदेवर जी इतनाबड़ा.

मे –  हाँभाभी अब घरचल के तुम्हेचोदना ही पड़ेगा.

मैने दो उंगलियाँउनकी चूत केअंदर डाल दीऔर वही उंगलियोंको अन्दर बाहरकरने लगा भाभीमेरे लंड कोउपर नीचे कररही थी वोअब पूरी गर्महो चुकी थीमें ज़ोर ज़ोरसे उनकी चूतको चोद रहाथा अपनी उंगलियोंसे.

भाभी–  अग्ग्घ्हहदेवर जी बहुतखुजली हो रहीहै कोई पासमे जगह हैक्या?

मे –  कहोतो यही चोददूं सीट परही झुका केवैसे भी लास्टसीट है कोईदेख भी नहीरहा है.

भाभी–  नहीमें इस मोटेलंड को आरामसे लेना चाहतीहूँ.

उनकी चूत टपकरही थी मेरीउंगलियां मस्त चोदरही थी उन्हेंअन्दर बाहर अन्दरबाहर अन्दर बाहरअन्दर बाहर अन्दरबाहर अन्दर बाहरअन्दर बाहर अहहदेवररररर जीईईईईई भाभी मेरेहाथों पर हीझड़ गयी.
भाभी–  चलोदेवर जी अबघर चलो छोड़ोमूवी को अभीघर पर कोईआयेगा भी नही4.30  बजेहै.
भाभी कपड़े ठीक करनेलगी मैने भीअपने लंड कोपेन्ट मे एड्जस्टकिया और हमघर की तरफचल दिये बाइकतेज़ी से चलातेहुये हम घरपहुँचNashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahaniगये भाभीने गेट लगातेही मुझे बाहोंमे भर लियाहम लोग दोबिछुड़े प्रेमियों की तरहएक दूसरे कोचूमने लगे फटाफटभाभी की साड़ीउतार दी औरउनकी चूचीयों कोज़ोर ज़ोर सेदबाने लगा औरफिर उन्हे ड्राइंगरूम के सोफेपर ही पटकदिया भाभी औरछटपटाने लगती हैफिर में उनकीब्लाउज और ब्रादोनो खोल देताहूँ भाभी मेरीपेन्ट और अंडरवेयरएक साथ खोलकर नीचे बैठजाती है औरमेरा लंड अबउनके हाथ मेथा वो ललचाईनज़रो से उसेदेख रही थी.

थोड़ी देर बादउसे चूसने लगतीहै में उनकेबाल पकड़ केमुँह मे हीचोदने लगता हूँवो मेरे बालको भी सहलानेलगती है मेंउनके पेटीकोट औरपेंटी भी उनकोउठा के खोलदेता हूँ अबवो पूरी नंगीहो गयी थीक्या मस्त माललग रही थी36 चूची की निपलनुकीली हो गयीथी मस्त कमरऔर मोटी गांडआग बढ़ा रहीथी हम लोगअब 69 पोज़िशन मेथे में उनकीचूत चाट रहाथा चट्टाक चटचट्टाक चट चट्टाकचट और वोमेरा लंड चूसरही थी. चुप्पुकचुउऊस चुप्पुक चुउऊसरूम पूरा सेक्सीसाउंड से भरगया था.

भाभी–  देवरजी अब चूतमे डालो नाअपना मूसल लंडअब सहा नहीजा रहा हैचूत टपक रहीहै.

मैने भाभी कोसोफे पर एड्जस्टकिया और अपनालंड उनकी चूतके मुँह पररखा और एकज़ोर का झटकादिया घचहाआआआआआआक आगगगगगगघहदेवर जी धीरेचोदो चोदो जल्दीमर गई मेंअब मस्त चुदाईहोने लगी भाभीचुत्तड उछाल उछालकर चुदा रहीथी में उनकीचूचीयों को चूसतेहुये अपने हाथसे उनके चुतडको पकड़ करचोद रहा था.

मेरी जांघे नीचे सेउनकी टपकती चूतके रस सेभीग रही थीउस रस कोमें उंगलियों सेउनकी गांड केछेद मे डालरहा था औरकभी कभी गांडमे भी उंगलीघुसा दे रहाथा घच्चा गच्छघच्चा गच्छ घच्चागच्छ घच्चा गच्छभाभी मज़े सेचुदा रही थीउनकी चूचीयां चोदतेसमय ऐसे हिलरही थी जैसेआँधी आने परपेड़ पर फलहिलते है फिरमैने भाभी कोघुमा दिया उनकाचुत्तड अब उपरहो गया औरमें खड़ा होकरपीछे से उनकीचूत मे लंडडाल के चोदनेलगा और आगेहाथ बढ़ा केउनकी दोनो चूचीयोंको पकड़ केचोदने लगा.

भाभी–  क्यामस्त चुदाई करतेहो देवर जीकितने दिन होगये ऐसी मस्तचुदाई नही हुईथी चोदो रेअपनी रंडी भाभीको ज़ोर ज़ोरसे चोदो कितनामस्त लंड हैजी तुम्हारा चोदतेरहो रुकना मतमें झड़ रहीहूँ आआाअघह ओहघाआप्प घपक घाआप्पघपक घाआप्प आह देवर जीमज़ा रहाहै.

Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani
Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani
Nashili Bhabhi Ke Sathi Hot Raat Gujaari ki kahani

मेंने भाभी केमस्त मस्त चुतडमसल मसल केलाल कर दियेअब पूरी तरहसे भाभी केउपर सवार होकरचोद रहा थाभाभी का पूराशरीर सिमट गयाथा पैर पूरामोड़ के सरतक कर दियेथे और चढ़के चोद रहाथा नॉर्मल पोज़िशनमे औरत इसस्थिति मे नहीरह सकती परचुदते  समयउसे कुछ फीलही नही होताकी उसके शरीरका क्या एंगलबन गया हैमें मस्ती मेचोद  रहाथा भाभी दोबार झड़ चुकीथी.
फटाआक फकक्च फकक्च

भाभी–  अबरहने दो देवरजी चूत जलरही है अबडालो ना अपनारस.

फिर में ज़ोरज़ोर से झटकेमारता हुआ उनकीचूत मे हीअपना रस डालदिया.


भाभी–  ओहकितना गाढ़ा हैदेवर जी आपकामेरी टाँगे भीभीग गई परआपने आज मुझेस्वर्ग दिखा दियाजब भी मुझेचोदने का मनकरे मेरे घरआकर मुझे चोदजाना बहुत हीमस्त चुदाई करतेहो.

No comments:

Post a Comment

Facebook Comment

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks